क्राईम पुलिस

जामताड़ा के साईबर ठगों पर अमेरिकी एजेंसी करेगी रिसर्च

झारखंड। अमर उजाला अखबार ने ख़बर प्रकाशित कर जानकारी दी है कि भारत मे साइबर ठगी के लिए बदनाम जामताड़ा इलाके के साइबर ठगों पर अमेरिका की एक एजेंसी रिसर्च करने वाली है। कम पढ़े लिखे और कम उम्र के युवकों द्वारा देशभर के अच्छे खासे पढ़े लिखे लोगों को बेवकूफ़ बनाकर उनके खातों से लाखों रुपये उड़ा लेने वाले ठगों के कारण झारखंड का जामताड़ा गांव देश ही नहीं देश के बाहर भी जाना जाने लगा है।

ये ठग इतने कुख्यात हैं कि इन पर बनी एक वेबसीरीज़ भी नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो चुकी है।

इन शातिर ठगों में दिलचस्पी दिखाने वाली अमेरिकी एजेंसी शोध कर के ये जानना चाहती है कि जामताड़ा के छोटे छोटे बच्चे आखिर ऐसी कौन सी तरकीब अपनाते हैं जिससे लोग इनके झांसे में आ जाते हैं। आए दिन जामताड़ा के ठगों के कारनामों की खबरें आती रहती हैं। देश के कोने कोने की पुलिस साइबर ठगों की तलाश में जामताड़ा पहुचती रहती है।

जामताड़ा के ये ठग न तो ज़्यादा पढ़े लिखे हैं न ही इन्होंने कहीं से आईटी या साइबर की ही पढ़ाई की हुई है, फिर भी ये लोग तकनीक का इस्तेमाल करके लोगों के बैंक एकाउंट से पैसे निकाल लेते हैं। अमेरिकी एजेंसी अपने रिसर्च में ये भी पता लगाएगी कि इन ठगों ने तकनीक की ऐसी बारीक जानकारी कहां से हासिल की है।

Related posts

खाकी कपड़े से मास्क सिलवाकर बांटेगी बिलासपुर पुलिस

News Desk

लावारिस मिली 5 दिन की मासूम का सहारा बने कुर्बान खान और तोरवा पुलिस

Anuj Shrivastava

मरवाही मनरेगा घोटाला: सरपंच, सचिव और ठेकेदार ने लाखों हड़प लिए, मजदूरों ने किया चुनाव का बहिष्कार