क्राईम छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर भृष्टाचार राजनीति हिंसा

बुज़ुर्ग ने कहा ज़मीन उसकी है, कांग्रेस नेता ने कहा अब मैने ख़रीद ली है

भूमाफियाओं का गढ़ बन चुके बिलासपुर शहर में एक और विवादित ज़मीन का विवादित मामला सामने आया है। 2250 स्क्वेयर फिट की ये विवादित ज़मीन इंदु चौक के पास स्थित है। विवादित जमीनों की खरीदी बिक्री के मामलों में पहले से सुर्खियां बटोर चुके कांग्रेस नेता अकबर खान ही इस विवाद में भी शामिल हैं। चूंकि मामला सिविल लाईन थानाक्षेत्र का है तो आप ख़ुद ही समझ सकते हैं कि पुलिस किसके पक्ष में खड़ी दिखी होगी! नेताजी पर सिविल लाईन थाने की विशेष महरबानी रहती है।

बिलासपुर। आवेदक नंदलाल चौधरी का कहना है कि इंदु चौक स्थित ज़मीन उन्होंने 1999 में यूसुफ़ मसीह दास से ख़रीदी थी। यूसुफ़ मसीह दास की अब मृत्यु हो चुकी है। कुछ समय पहले अकबर ख़ान(काँग्रेस नेता) ने उन्हें ख़बर भिजवाई कि संबंधित ज़मीन को वो ख़रीद रहा है। नंदलाल ने कहा कि “मैंने अकबर भाई को बताया था कि ये ज़मीन पहले ही मैंने ख़रीदी हुई है जिसकी रजिस्ट्री भी मेरे पास है। मेरी इस ज़मीन पर कुछ दुकानें बनी हुई हैं जो मैंने किराए से दे रखी हैं। किराएदारों से किया एग्रीमेंट भी मेरे पास है।”

आवेदक बुजुर्ग नंदलाल चौधरी

नंदलाल का कहना है कि “कुछ दिनों से मेरी ज़मीन पर अकबर खान के लोग निर्माणकार्य करने की कोशिश कर रहे हैं। आज मैंने मुहल्ले में रहने वाले कुछ युवकों से निर्माण कार्य रुकवाने के सम्बंध में मदद मांगी तो अकबर खान के लोगों ने उनके साथ दुर्व्यवहार और गाली गलौच की जिसकी शिकायत लेकर हम सिविल लाईन थाने आए हैं।”

अकबर ख़ान की तरफ़ से तैयब ने मीडिया को बाईट दी

अकबर खान की तरफ़ से बात रख रहे तैयब हुसैन ने बताया कि “2250 स्क्वैर फिट की ये ज़मीन राजस्व दस्तावेज़ों में अकबर ख़ान के नाम से दर्ज है, 2021 का ही इसका सीमांकन है। दुकानों के बाद बची ख़ाली ज़मीन पर पिछले एक हफ़्ते से हम कुछ निर्माण करने की कोशिश कर रहे हैं जिससे हमें रोका जा रहा है।”

मौके पर दोनों पक्षों के बीच गाली गलौच धक्कामुक्की

इन्दु चौक स्थित इस ज़मीन पर निर्माणकार्य करवाने काँग्रेस नेता अकबर ख़ान की तरफ़ से तैयब हुसैन एवम कुछ अन्य लोग पहुँचे हुए थे। यहाँ दोनों पक्षों के बीच जमकर गाली गलौच और धक्कामुक्की हुई। जिसका एक वीडियो भी सामने आया है। वीडियो देखने से ऐसा लग रहा है जैसे कि तैयब हुसैन आवेदक नंदलाल की तरफ़ से बात कर रहे युवक मैडी को गाली देकर धमका रहे हैं।

मौके पर मौजूद लोगों से प्राप्त वीडियो

थाने के बाहर जमा हुई हथियारबंद भीड़

जिस समय ये दोनो पक्ष सिविल लाईन थाने के टीआई कक्ष में अपना अपना पक्ष रख रहे थे उसी समय थाने के बाहर इकट्ठी भीड़ में से कुछ लोगों के पास हथियार भी देखे गए। एक नाबालिग लड़के को पुलिस ने बेज़बॉल बैठ के साथ पकड़ा भी है। हालांकि पुलिस का कहना है कि वो लड़का बेज़बॉल बैठ लेकर वहाँ क्यों आया था इस संबंध में उससे पूछताछ की जा रही है।

हथियार लेकर आए युवक को पकड़कर लेजाती पुलिस

हालांकि हम इस बात का दावा नहीं कर रहे लेकिन सूत्रों के मुताबिक जिस लड़के को बेज़बॉल बैट के साथ पकड़ा गया है वो काँग्रेस नेता अकबर खान के सपोर्ट में आया हुआ था।

नेताजी के साथ गुलुगुलु और नंदलाल को खरीखोटी

आवेदक नंदलाल चौधरी का आरोप है कि पुलिस काँग्रेस नेता के साथ नरमी से और हमारे साथ सख़्ती से पेश आ रही थी। जबकि हमारी रजिस्ट्री पुरानी है और 20 साल से भी ज़्यादा समय से ज़मीन पर हमारा ही कब्ज़ा है।

नंदलाल चौधरी और उसके साथ आए अन्य लोगों से बदसुलूकी करते वक्त सिविल लाईन थाना प्रभारी

नंदलाल चौधरी ने सिविल लाईन पुलिस पर नेताजी का पक्ष लेने का जो आरोप लगाया है ऐसे आरोप सिविल लाइन के वर्तमान थानेदार पर कई मर्तबा लग चुके हैं। थाने के अंदर बैठकर गालियाँ बकने का हौसला ऐसेही थोड़ी न आ जाता है।

नंदलाल चौधरी और उसके साथ आए अन्य लोगों से बदसुलूकी करते वक्त सिविल लाईन थाना प्रभारी

ऐसा अक्सर देखा गया है कि जब भी काँग्रेस नेता अकबर ख़ान से जुड़ा कोई विवाद सिविल लाईन थाने पहुँचता है तो नेताजी को कुछ ज़्यादा ही ख़ास तवज्जो दी जाती है और दूसरे पक्ष के साथ अच्छा बर्ताव नहीं होता, ऐसा ही दृश्य आज भी दिखा। थानेदार महोदय ने नेताजी के विपक्षी बुज़ुर्ग नंदलाल चौधरी और उनके साथियों को चिल्ला चिल्लाकर खूब खरीखोटि सुनाई।

काँग्रेस नेता अकबर खान पर पहले भी ज़मीन संबंधि विवादों में धमकाने, मारपीट करने के आरोप लग चुके हैं।

विवाद के बाद दोनों पक्ष सिविल लाईन थाने में शिकायत लेकर पहुँचे। सीएसपी मंजुलता बाज ने बताया कि नंदलाल चौधरी और तैयब हुसैन दोनों ने ही थाने में आवेदन दिया है। दोनों ही पक्षों को ज़मीन के कागज़ात प्रस्तुत करने कहा गया है। जाँच के बाद आगे करवाई की जाएगी।

Related posts

बिलासपुर : दो युवकों के साथ सामूहिक मारपीट में अपराधियों को बचा रही है पुलिस .इसे ही माँब लिचिंग कहते है ज़नाब .

News Desk

लगा कि मॉब लिंचिंग अपनी पूरी क्रूरता के साथ हमारी चेतना का हिस्सा बन गई है !

News Desk

सुधा जी के ऊपर साजिश बर्दास्त नही किया जाएगा मजदूरो के किसानों के परिवार विरोध में उतरेगा। न्याय के लिए यह लड़ाई छत्तीसगढ़ के पौने तीन करोड़ जनता का है .: छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यकर्ता समिति छत्तीसगढ़

News Desk