क्राईम छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर महिला सम्बन्धी मुद्दे

लड़की ने “ना” कही तो लड़के ने अपहरण कर लिया, सकरी पुलिस ने किया गिरफ़्तार

सकरी. प्रेम के नाम पर छीछालेदर फैलाने वाले लड़कों की बिलासपुर और आसपास के इलाकों में कोई कमी नहीं हैं. वैसे तो जंगलों को छोड़कर अलबत्ता पूरे देश का यही हाल है. ताज़ा घटना बिलासपुर के पास सकरी क्षेत्र की है.

सकरी के बंधवापारा मुहल्ले के रहने वाले विक्की उर्फ़ छोटू नेताम की उम्र 19 साल और 09 महीने है. करियर और पढ़ाई लिखाई का कोई ठिकाना नहीं है, लेकिन साहब इलाके की ही एक नाबालिग लड़की का पीछा किया करते थे. कभी रास्ता रोकते, कभी छेड़ते, कभी कमेन्ट पास करते थे. लड़की उसे हमेशा ही ऐसा करने से मना करती थी. प्रेम के इज़हार पर भी लड़की ने साफ़-साफ़ “ना” कह दिया था.

हालांकि ऐसी आवारागर्दी से लड़कियां इम्प्रेस नहीं होती हैं पर इन जाहिलों को कौन समझाए.

सोमवार 7 जून के दिन लड़की अपनी सहेलियों के साथ स्कॉलरशिप की रकम निकालकर बैंक से घर लौट रही थी. रास्ते में विक्की उर्फ़ छोटू नेताम ने उसका रास्ता रोका उसे थप्पड़ मारा, गालियां दीं और ज़बरदस्ती अपने साथ ले गया. सहेलियों ने जाकर माँ को ख़बर की.

सकरी थाना प्रभारी सागर पाठक ने बताया कि सूचना मिलने पर तुरंत ही पूरे इलाके की घेराबन्दी शुरू कर दी गई थी. आज सुबह आरोपी को गिरफ़्तार कर लिया गया है. पीड़ित लड़की का बयान लेकर उसे परिवार को सौप दिया गया है.

आरोपी विक्की उर्फ़ छोटू नेताम पर भारतीय दण्ड विधान की धरा 363, 354, 354(घ), 294, 506 और पॉक्सो एक्ट के आहत मामला दर्ज कर उसे अदालत ले जाया गया है.

Related posts

बिलासपुर : बंगलादेश आयुक्त के परमिट के बावजूद अभी तक युवती नहीं पहुचाई स्वदेश .: 8-9 महीने से है बिलासपुर में. युवती को तुरंत भेजें बंगलादेश .: पीयूसीएल छत्तीसगढ़

News Desk

बेहतर पुलिसिंग के लिए बिलासपुर पुलिस की नई पहल “वार्ड संगी”

Anuj Shrivastava

छतीसगढ पुलिस को विरोध प्रदर्शन का हक़ है ,पुलिस पर पुलिस का दमन बन्द करें , यह राजद्रोह नहीं ,जीने योग्य सुविधाओं के लिये किये गये आंदोलन का समर्थन . पीयूसीएल छतीसगढ .

News Desk