Uncategorized

पत्रकार नीरज शुक्ला पर जानलेवा हमला करने वाले नकाबपोषों की गिरफ्तारी की मांग हुई तेज़, पत्रकारों ने दिया आईजी को दिया ज्ञापन, एक पुलिसकर्मी पर मास्टरमाइंड होने का शक

बिलासपुर। बिलासपुर शहर में 15 नवंबर की रात लगभग 12:30 बजे अज्ञात बदमाशों ने जान से मारने की नियत से नीरज शुक्ला पत्रकार पर घात लगाकर हमला किया। जान के डर से भागते नीरज शुक्ला को हाथ में चाकू लिए नकाबपोश हमलावर काफी दूर तक दौड़ा रहे थे। इस मामले में सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है जिसमें साफ दिख रहा है कि हमलावर पत्रकार को जान से मारने के लिए आए हुए थे। पत्रकार पर हुए जानलेवा हमले का विरोध करने और निष्पक्ष त्वरित जांच करने की मांग को लेकर शहर के पत्रकार आईजी कार्यालय में एकत्रित हुए। और पुलिस महानिरीक्षक को लिखित ज्ञापन दिया।

आईजी रतनलाल डांगी ने पत्रकारों की पूरी बात सुनी और आश्वासन दिया कि वे विशेष ध्यान देकर इस मामले की निष्पक्ष जांच कराएंगे। बहरहाल आईजी बिलासपुर रतनलाल डांगी के निर्देश पर होने वाली किसी भी जांच से दूध का दूध और पानी का पानी जरूर होगा ऐसा सभी पत्रकारों को भरोसा है। लेकिन फिर भी एक सवाल हवा में तैर रहा है कि पीड़ित नीरज शुक्ला के द्वारा हमलावर के रूप में ACCU के आरक्षक हेमंत सिंह सहित कुछ और संदिग्धों के नाम अपने ज्ञापन मे लिखे हैं। कुल तीन संदेहियों के नाम पुलिस को दिए गए हैं। उम्मीद की जा रही है कि अब अधिक विलंब ना हो कर तुरंत पत्रकार को न्याय मिलेगा।

इस मामले में आईजी को ज्ञापन देने के लिए जाने वाले पत्रकारों में प्रेस क्लब के सचिव इरशाद अली, मनीष शर्मा देव दत्त तिवारी, विनय मिश्रा, उपेंद्र शुक्ला आरडी गुप्ता, अनिल श्रीवास्तव, पंकज खंडेलवाल, शिवा गोरख, विनय मिश्रा, आशीष मौर्य नीरज, संतोष मिश्रा, छवि कश्यप, शहवावाज खान, नीरज मखीजा, लोकेश वाघमारे, गोविंद शर्मा, रवि कश्यप, मधु खान, गोलू कश्यप समेत बड़ी संख्या में पत्रकार मौजूद रहे।

Related posts

नसबंदी कांड : राज्य सरकार के खिलाफ हाई कोर्ट पहुंचा आईएमए

cgbasketwp

जादू-टोने के शक में दादी की कुल्हाड़ी मारकर नृशंस हत्या

News Desk

माना की भक्त नादान है ,लेकिन ये जो भगवान है वो किसी के लिये कुछ करते क्यो नहीं हैं

cgbasketwp