Tag : Sharad Kokas

अभिव्यक्ति कला साहित्य एवं संस्कृति कविताएँ छत्तीसगढ़ महिला सम्बन्धी मुद्दे

दंगों में अपमानित की जानेवाली बेटियों को समर्पित शरद कोकास की कविताएँ

News Desk
पहली कविता कौसर बानो का अजन्मा बेटा – एक पृथ्वी पर मनुष्य के जन्म लेने की घटना इतनी साधारण है अपनी परम्परा में कि संवेदना में कहीं...
अभिव्यक्ति कला साहित्य एवं संस्कृति कविताएँ शिक्षा-स्वास्थय

रोहित वेमुला का आख़िरी खत : शरद कोकास की कविता

Anuj Shrivastava
रोहित वेमुला ने अपनी आत्महत्या से पूर्व जो ख़त लिखा था उसे पढ़ने के बाद जो तकलीफ़ मुझे हुई उसने इस कविता को जन्म दिया।...
कला साहित्य एवं संस्कृति दस्तावेज़ विज्ञान

एक पुरातत्ववेत्ता की डायरी

Anuj Shrivastava
नई सीरीज़ सीजीबास्केट के पाठकों के लिए आज से एक नई सीरीज़ प्रस्तुत कर रहे हैं “एक पुरातत्ववेत्ता की डायरी” जानकारियों मे दर्शन समेटे ये...
अभिव्यक्ति ट्रेंडिंग महिला सम्बन्धी मुद्दे

अपने बेटों को बताएं कि जबरिया सेक्स बलात्कार कहलाता है चाहे वो पत्नी के साथ ही क्यों न हो

Anuj Shrivastava
केवल पन्द्रह साल बाद बलात्कार जैसा शब्द समाज के शब्दकोश से गायब हो सकता हैअगर हम सिर्फ इतना करें… हम अपने बेटों को जन्म से...
अभिव्यक्ति कला साहित्य एवं संस्कृति कविताएँ

हालीना पोस्वियातोव्स्का की दो कविताएं

Anuj Shrivastava
आज विदेशी कवयित्रियों की कविताओं की इस श्रंखला की अंतिम कड़ी में प्रस्तुत कर रहा हूँ हालीना पोस्वियातोव्स्का की दो कवितायें । इन कविताओं का...
अभिव्यक्ति कला साहित्य एवं संस्कृति कविताएँ

ग्राज़्यना क्रोस्तोवस्का की कविता – परायी धरती

Anuj Shrivastava
ग्राज़्यना क्रोस्तोवस्का का जन्म 21 अक्टूबर 1921 को लुबलिन (पोलैंड) में हुआ था. नाज़ी जर्मनी के काल में भूमिगत संगठन के. ओ. पी. की सक्रिय...
अभिव्यक्ति कला साहित्य एवं संस्कृति कविताएँ

डेनमार्क मूल की शीमा काल्बासी की कविता

Anuj Shrivastava
जब उनके परिवारों में कोई पुरुष नहीं बचता रोटी के लिए याचना करती वे भूख से मर जाती हैं आज सातवें दिन आप पढ़ेंगे  ईरान...
अभिव्यक्ति कला साहित्य एवं संस्कृति कविताएँ

कवयित्री दून्या मिख़ाइल की महत्वपूर्ण कविता

Anuj Shrivastava
नवरात्र के छठवें दिन आज प्रस्तुत है अरबी में लिखने वाली कवयित्री दून्या मिख़ाइल की एक महत्वपूर्ण कविता  दून्या की इस कविता पर कवि गीत चतुर्वेदी की यह टिप्पणी प्रस्तुत...
कला साहित्य एवं संस्कृति कविताएँ

गाब्रीएला मिस्त्राल की दो कविताएं

Anuj Shrivastava
आज नवरात्रि के चौथे दिन प्रस्तुत है नोबेल पुरस्कार प्राप्त लैटिन अमेरिकी कवयित्री गाब्रीएला मिस्त्राल की दो कविताएँ जिनका अनुवाद कबाड़खाना ब्लॉग के श्री अशोक पाण्डेय, तथा हिमानी...
कला साहित्य एवं संस्कृति कविताएँ

कवयित्री अन्ना अख़्मातोवा की कविता

Anuj Shrivastava
नवरात्र के नौ दिनों में हर रोज़ की एक कविता की कड़ी तीसरे दिन प्रस्तुत है यूक्रेन रूस की कवयित्री अन्ना अख़्मातोवा की कविता लक्ष्मण...