Tag : poem

कविताएँ

संतोष झांझी आज दस्तक मे मेरी कविताएँ

cgbasketwp
पिनकुश * मै एक पिनकुशन हूँ सिर्फ एक पिनकुशन पैदा होते ही बिंधने लगे लड़की होने के पिन जरा कद बढाया लड़के वालो की नापसंदगी...