Tag : शरद कोकस

कला साहित्य एवं संस्कृति दस्तावेज़

पांचवा अंक : जो चल गया वो खरा सिक्का .एक पुरातत्ववेत्ता की डायरी .शरद कोकास

News Desk
? ?? ?? ? अब तक आपने पढ़ा कि प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति एवं पुरातत्व अध्ययन शाला के छात्र शरद,रवीन्द्र,अजय,अशोक,किशोर और राममिलन उज्जैन के निकट...
कला साहित्य एवं संस्कृति

21 नवंबर ःः इलाहाबाद नई कविता का तीर्थ बन गया था : ज्ञानरंजन

News Desk
21 नवम्बर 1936 को जन्मे हिंदी के सुप्रसिद्ध कथाकार और ‘पहल’ के यशस्वी संपादक ज्ञानरंजन जी आज 82 वर्ष के हो गए हैं । उनके...
आंदोलन औद्योगिकीकरण कला साहित्य एवं संस्कृति मजदूर

मजदूर दिवस पर शरद कोकास की तीन कविताएँ : हमारे हाथ अभी बाकी हैं

News Desk
  1. कल रात मेरी गली में एक कुत्ता रोया था और उस वक़्त आशंकाओं से त्रस्त कोई नहीं सोया था डर के कारण सबके...
विज्ञान

नया साल किसे मानेंगे? :  वैज्ञानिक और तथ्यात्मक विशलेषण :, शरद कोकास की शीघ्र प्रकाश्य पुस्तक “मस्तिष्क की सत्ता “से

News Desk
19.03.2018 भारत के लोग साल में दो तीन बार नया साल मनाते हैं इसका कारण यहाँ पाए जाने वाले कैलेंडरों की विविधता है । इसके...
विज्ञान

विज्ञान कथायें : ” मस्तिष्क की सत्ता” से एक अंश। : वैज्ञानिक दृष्टिकोण क्या है ? / हम पैदा ही नहीं होते तो क्या होता ? – शरद कोकास

News Desk
** ज़रा सोचकर देखिये अगर आप पैदा ही नहीं होते तो क्या होता ? कुछ नहीं होता , यह दुनिया जैसे चल रही है वैसे...
कला साहित्य एवं संस्कृति

शरद कोकास की शीघ्र प्रकाश्य पुस्तक “मस्तिष्क की सत्ता” से तीन टिप्पणी

News Desk
** यह मनुष्य आखिर है क्या ? *फ़रिश्ते से बढ़ कर है इंसान बनना* *मगर इस में लगती है मेहनत ज़ियादा* (अल्ताफ़ हुसैन हाली) इंसान...