Tag : जुलैख़ा जबीं

कला साहित्य एवं संस्कृति धर्मनिरपेक्षता महिला सम्बन्धी मुद्दे

रूब़रू में इस्लाम और सामाजिक परिप्रेक्ष्य में जुलैख़ा जबीं से चर्चा . तीन एपीसोड़ .

News Desk
दुनिया के सभी प्रचलित धर्म अपने अंदर कई रूढ़ियाँ और ग़ैरज़रूरी परम्पराएं लिए हुए हैं, और जब मैं “सभी धर्म” कह रहा हूं तो ज़ाहिर...
आदिवासी आंदोलन महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार

पिछड़ी-अतिपिछड़ी-पसमन्दा महिलाओं का सम्मेलन- बहुजन महिलाओं का सम्मेलन : 2019.

News Desk
25.02.2019 प्रस्तुति : जुलैख़ा जबीं पिछड़े वर्ग से तात्पर्य सामाजिक एवं शैक्षिक रूप से पिछड़ी जातियों से है जिनकी सामजिक स्थिति पारम्परिक जातिगत पद्सोपानीय व्यवस्था...
आंदोलन मानव अधिकार

सेंट्रल पार्क कनाट प्लेस ःः कैंड्ल मार्च ” “उन्मादी भीड़ नहीं जागरुक नागरिक बनिये”…  आज 19 फ़रवरी) शाम 6 बजे सेंट्रल पार्क कनाट प्लेस पहुंचिये. देश के लिए अपनी ज़िम्मेदारी को ग़ुस्से में तब्दील कीजिये.

News Desk
19.02.2019 साथ आईये, सवाल उठाइये- *कब तक हम अपने जवानों को लाशों के ढ़ेर में बदलते देखते रहेंगे? *कब तक हम अपने प्यारे देश की...
आंदोलन कला साहित्य एवं संस्कृति दलित महिला सम्बन्धी मुद्दे विज्ञान

सावित्री बाई फुले और फ़ातमा शेख़ : सोचिए उस “दौरे जाहिलियत” में सामाजिक तौर पे बहिष्कृत कर दिए गए दंपत्ति को “शेल्टर” देना कोई हंसी ठट्ठे का खेल नहीं रहा होगा.: जुलैखा जबीं

News Desk
जुलैखा जबीं ,सामाजिक कार्यकर्ता . अठारहवीं सदी के पेशवाई युग में ब्राह्मणों के दबाव में जोतिबा फुले के वालिद ने जब अपने शादीशुदा बेटे को...
धर्मनिरपेक्षता मानव अधिकार सांप्रदायिकता

ख़ेराजे अक़ीदत शहीद सुबोध कुमार जी को ःः जुलैखा जबीं.

News Desk
इंस्पेक्टर सुबोध कुमार के क़ातिलों को “भीड़” का नाम मत दीजिए प्लीज़…. 5.12.2018 वर्ना कई और सुबोध कुमार, कई और ज़ियाउल हक़ जैसे जम्हूरियत के...
कला साहित्य एवं संस्कृति

ईद मिलादुन्नबी ःः भारत के सुन्नी “वाक़ई” उम्मते मोहम्मदी हैं……? ज़ुलैख़ जबीं

News Desk
21.11.2018 इस्लामी महीना रबीउल अव्वल शुरू हो चुका है. इस्लामी लेहाज़ से इस महीने में अल्लाह के आख़िरी नबी रसूल (सअव) की पैदाइश और वफ़ात...
कला साहित्य एवं संस्कृति दलित

स्मृति शेष ःः “मैं भंगी हूं” जैसी कालजयी किताब के लेखक सामाजिक, राजनैतिक चिंतक एडवोकेट भगवानदासः के.पी.सिंह

News Desk
ख़ेराजे अक़ीदत.. भारत के सबसे पहले अंबेडकरवाद मार्क्सवाद की एकजुटता के सशक्त (स्पष्ट) पक्षधर, सामाजिक क्रांतिकारी एड भगवानदास आज ही के दिन इस दुनियाए फ़ानी...
दलित मानव अधिकार राजनीति

31 जुलाई  : सफाई कर्मचारी दिवस ,अस्तित्व का सवाल है…..–जुलैखा जबीं

News Desk
Jul 31.8.17 खरीन्यूज़ से आभार सहित  ज़ुलैख़ा जबीं 30 जुलाई 2017 को “मन की बात” कार्यक्रम के 34वें संस्करण में भारतीय पीएम के मुंह से...