Tag : अनुज श्रीवास्तव

कला साहित्य एवं संस्कृति

21. आज मसाला चाय कार्यक्रम में सुनिए अवतार सिंह संधू उर्फ़ ‘पाश’ की एक कविता. – अनुज

Anuj Shrivastava
आज  मसाला चाय कार्यक्रम में सुनिए अवतार सिंह संधू उर्फ़ ‘पाश’ की एक कविता. उन्हें क्रांति का कवि माना गया. उनकी तुलना भगत सिंह और...
कला साहित्य एवं संस्कृति

19.आज मसाला चाय कार्यक्रम में सुनते हैं भागलपुर बिहार की रहने वाली अल्का सिन्हा की कविताएं.

News Desk
आज मसाला चाय कार्यक्रम में सुनते हैं भागलपुर बिहार की रहने वाली अल्का सिन्हा की कविताएं. स्त्री मन की वो उथल-पुथल जो अक्सर अव्यक्त ही...
कला साहित्य एवं संस्कृति

18. मसाला चाय कार्यक्रम में आज सुनिए कवि अंशु मालवीय की कुछ कविताएं. – अनुज

Anuj Shrivastava
मसाला चाय कार्यक्रम में आज सुनिए कवि अंशु मालवीय की कुछ कविताएं। कवियों के दरबारी होते जाने वाले इस दौर में अंशु मालवीय जैसे कुछ...
कला साहित्य एवं संस्कृति

17.आज मसाला चाय कार्यक्रम सुनते हैं शायर अदम गोंडवी की कुछ कवितायें.- अनुज

News Desk
आज मसाला चाय कार्यक्रम सुनते हैं शायर अदम गोंडवी की कुछ कविताएं. अदम गोंडवी ने अपने कहने के लिए बहुत सरल भाषा चुनी.उन्होंने बहुत नहीं...
कला साहित्य एवं संस्कृति

16. आज के मसाला चाय कार्यक्रम में हरिशंकर परसाई की दो व्यंग्य रचनाएं हमने पढ़ी हैं “यस सार” और “अश्लील” – अनुज.

News Desk
आज के मसाला चाय कार्यक्रम में हरिशंकर परसाई की दो व्यंग्य रचनाएं हमने पढ़ी हैं “यस सार” और “अश्लील” सरकारी कामकाज के ढीलेपन और समाज...
कला साहित्य एवं संस्कृति सांप्रदायिकता

15.मसाला चाय में आज सुनिए सआदत हसन मंटो की कहानी “टोबा टेक सिंह” अनुज .

Anuj Shrivastava
मंटो ने ताउम्र मजहबी कट्टरता के खिलाफ लिखा, मजहबी दंगे की वीभत्सता को अपनी कहानियों में यूं पेश किया कि आप सन्न रह जाए. उनके...
कला साहित्य एवं संस्कृति

14. आज मसाला चाय कार्यक्रम में सुनिए नजीर अकबराबादी की कविता “आदमीनामा” अनुज.

News Desk
उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान की ‘नज़ीर ग्रंथावली’ में ज़िक्र है कि नज़ीर सरल स्वभाव के थे. जब घर से निकलते तो अक्सर लोग रास्ता रोककर...
कला साहित्य एवं संस्कृति

13.मसाला चाय कार्यक्रम में आज सुनते हैं यशपाल की कहानी “फूलो का कुर्ता” अनुज

Anuj Shrivastava
मसाला चाय कार्यक्रम में आज सुनते हैं यशपाल की कहानी “फूलो का कुर्ता” कथाकार यशपाल का बचपन ऐसे दौर से गुजरा, जब बरसात या धूप...
कला साहित्य एवं संस्कृति

12.आज मसाला चाय कार्यक्रम में सुनिए रमाशंकर यादव “विद्रोही” की कविता “धर्म”

Anuj Shrivastava
आज मसाला चाय कार्यक्रम में सुनिए रमाशंकर यादव “विद्रोही” की कविता “धर्म” दिलीप मंडल लिखते हैं, “प्रोफ़ेसरों. रमाशंकर यादव नाम का वह मासूम लड़का सुल्तानपुर,...
कला साहित्य एवं संस्कृति जल जंगल ज़मीन पर्यावरण

अरपा पर नवल शर्मा का कविता पाठ सुनेंगे , तो सुनिये.

Anuj Shrivastava
नवल शर्मा . हिंदी का विद्यार्थी . बिलासपुर ने गढ़ा – यहीं बढ़ा . छत्तीसगढ़ की माटी मालिक मैं कमिया हथगढ़िया. नवल शर्मा जी से...