Tag : अजय चंन्द्रवंशी

कला साहित्य एवं संस्कृति

राम विलास शर्मा : अपनी धरती अपने लोग: एक जुझारू आलोचक की आत्मकथा. : अजय चंन्द्रवंशी कवर्धा .

News Desk
आगे उन्होंने भाषा विज्ञान और सामाजिक-सांस्कृतिक इतिहास पर जो काम किया जो एक विस्तृत योजना का ही परिणाम है।इसी तरह विवेकानंद के अनुवादों के पुनः...
कला साहित्य एवं संस्कृति

राजेंद्र यादव : मुड़-मुड़के देखता हूँ, कोई देखता न हो. समीक्षा अजय चंन्द्रवंशी .

News Desk
लोग अपना आकर्षण प्रकट करते हैं. संबंध कोई बंधन नही रह गया है;जहां तक निभता है, निभाते हैं, न निभे तो अलग हो जाते हैं.राजेन्द्र...
कला साहित्य एवं संस्कृति

कविता संग्रह : आज का एकलव्य: मानवीयता का सहज सम्प्रेषण. अजय चंन्द्रवंशी .

News Desk
कृति-आज का एकलव्य(कविता संग्रह) कवि- बीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव प्रकाशक -ब्लू रोज़ समीक्षा : अजय चंन्द्रवंशी ,कवर्धा...
कला साहित्य एवं संस्कृति प्राकृतिक संसाधन

पीड़ाघाट पर्यटन स्थल: भोरमदेव क्षेत्र . अजय चंन्द्रवंशी कवर्धा

News Desk
भोरमदेव अंचल अपने पुरातत्विक, जनजातीय, और पर्वतीय सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध हैं। यहाँ मैकल पर्वतश्रेणी की गोद मे जहां बैगा-गोंड-अगरिया जैसे जनजातियों का निवास है,...
कला साहित्य एवं संस्कृति

रजत कृष्ण : छत्तीस जनों वाला घर: लोक चेतना और लोक की चिंता : अजय चंन्द्रवंशी ,कवर्धा

News Desk
भाषा के स्तर पर भी उनमे सहजता है.वे कविताओं में छतीसगढ़ी के शब्दों और क्रियाओं का जो प्रयोग करते हैं,वह असहज नही लगता बल्कि उनकी...
कला साहित्य एवं संस्कृति

पराये घर का दरवाजा: एक समीक्षा : कथाकार-श्रीमती संतोष झांझी – अजय चंन्द्रवंशी कवर्धा .

News Desk
पराये घर का दरवाजा(कहानी संग्रह) कथाकार-श्रीमती संतोष झांझी ——– अजय चन्द्रवंशी राजा फुलवारी चौक वार्ड नं 09 कावर्धा(छ. ग.) मो. 9893728320...
कला साहित्य एवं संस्कृति

भास्कर चौधरी : कुछ हिस्सा तो उनका भी है: सबके हिस्से की फिक्रमंद कविताएं : समीक्षा ,अजय चंन्द्रवंशी

News Desk
‌ कवि की संवेदना पहले -पहल अपने परिवार-परिवेश से प्रभावित होकर क्रमशः ‘वैश्विक’ हो सकती है.भास्कर के यहां ऐसा ही हुआ है; उनकी बहुत सी...
कला साहित्य एवं संस्कृति विज्ञान

दीवान पटपर : ढाल के विपरीत खिंचाव : अजय चंन्द्रवंशी

News Desk
भोरमदेव-मैकल पर्वत क्षेत्र अपने पुरातत्विक अवशेष के साथ-साथ प्राकृतिक सौंदर्य, जंगल, गुफाओं, बैगा जनजाति के निवास और संस्कृति आदि के लिए भी जाना जाता है।...
कला साहित्य एवं संस्कृति

तमस’ पढ़ते हुए : अजय चंन्द्रवंशी ,कवर्धा .

News Desk
‘तमस’ बीसवीं शताब्दी के श्रेष्ठ उपन्यासों में से एक है. इस उपन्यास को पढ़ना एक त्रासदी से गुजरना है. इसको पढ़ने से पता चलता है,...