आंदोलन किसान आंदोलन छत्तीसगढ़ मानव अधिकार शासकीय दमन

SECL ने 50 साल पहले जिनकी ज़मीन ली थी उन विस्थापितों का अबतक नहीं हुआ पुनर्वास, 25 गावों के किसानों की होगी बैठक

कोरबा के भूविस्थापित किसानों की पंचायत 30 जून को बांकी मोंगरा में

कोरबा। छत्तीसगढ़ किसान सभा के बैनर तले कल 30 जून को बांकीमोंगरा में एसईसीएल कोरबा क्षेत्र के भूविस्थापित किसानों एवं विस्थापन प्रभावित गांवों की पंचायत का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें 25 गांवों के किसान हिस्सा लेंगे।

छग किसान सभा के जिला अध्यक्ष जवाहर सिंह कंवर और सचिव प्रशांत झा ने आज यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस पंचायत के आयोजन के लिए किसान सभा कार्यकर्ताओं प्रताप दास, नंदलाल कंवर दीपक साहू, सत्रुहन दास, लखपत दास, अर्जुन दास, गणेश चौहान, सावित्री चौहान, रमा, सुराज सिंह कंवर, नवल सिंह कंवर, बृजपाल कंवर, बैशाखू राम चौहान, रामायण सिंह कंवर, रामेश्वर सिंह कंवर आदि ने सुराकछार बस्ती, रोहिना, मडवाढ़ोढा, बांकी बस्ती सहित कई गांवों में बैठकें की हैं। इस पंचायत में लगभग 25 गांवों के विस्थापन प्रभावित हिस्सा लेंगे।

किसान सभा नेताओं ने कहा कि 50-60 सालों बाद भी एसईसीएल प्रभवित गांवों लोग में सड़क, बिजली, पानी, स्कूल, स्वास्थ्य, स्ट्रीट लाईट जैसी मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं। पूर्व में एसईसीएल ने कौड़ियों के मोल जरूरत से ज्यादा भूमि का अधिग्रहण कर लिया है, जिस पर आज भी किसान भौतिक रूप से काबिज है। अब इस जमीन से उन्हें बेदखल करने का प्रयास किया जा रहा है, जबकि यह जमीन मूल खातेदार किसानों को वापस किया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि भू-विस्थापित किसानों की इस पंचायत में डि-पिल्लारिंग के कारण किसानों को हुए नुकसान का मुआवजा देने और जमीन को खेती योग्य बनाने, जिला खनिज न्यास निधि (डीएमएफ) से खनन प्रभावित गांवों में मूलभूत सुविधाओं का विस्तार करने, भू-विस्थापित परिवारों को भू विस्थापित प्रमाण पत्र देने की मांग, बेरोजगारों को वैकल्पिक रोजगार देने आदि मुद्दों पर भी चर्चा की जाएगी।

Related posts

जुनेद को मार दो -राजेश जोशी-

News Desk

हम शिक्षाकर्मी विद्यार्थियों को पढ़ना छोड़कर हड़ताल कर रहे है ? : पालकों और छात्रों से भी समर्थन की अपील

News Desk

बिलासपुर में अमरनाथ यात्रा पर हमले का विरोध और शांति की अपील .

News Desk