क्राईम छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर हिंसा

सतीश्री ज्वेलर्स गोलीकांड : झारखंड से आए थे डकैत, हड़बड़ी में छोड़ा सुराग, एक्स आर्मीमैन समेत 5 गिरफ़्तार

बिलासपुर। 25 जनवरी की शाम तकरीबन 8 बजे उसलापुर स्थित सती श्री ज्वेलर्स में डकैती की कोशिश हुई थी। 6 हथियारबंद नकाबपोशों ने घटना को अंजाम दिया था। दुकान के संचालक ने डकैतों का विरोध किया जिससे वे कुछ लूट नहीं पाए लेकिन इस मुठभेड़ में संचालक के हाथ में दो गोलियां लगी थीं। घटना में 4 लोग झारखंड के और 2 लोग बिलासपुर के थे। 5 को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है।

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या और सड़क सुरक्षा माह होने के बावजूद मुख्यमार्ग स्थित दुकान में गोली चल जाने की इस घटना ने बिलासपुर पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था के लचरपन को उजागर किया।

हालांकि गोली चल जाने के बाद पूरा पुलिस महकमा हरकत में आ गया और महज़ चार ही दिनों के भीतर घटना में शामिल 6 में से 5 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया है।

आज बिलासगुड़ी में हुई प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि घटना में शामिल 6 में से 4 लोग झारखंड के रहने वाले हैं। ये चारों कार से बिलासपुर आए थे। घटनास्थल से कुछ दूर कार पार्क कर दो बाइक में 3-3 लोग बैठकर डकैती डालने ज्वेलरी शॉप पहुचे, दो लोग बाइक चालू रखकर दुकान के बाहर इंतज़ार कर रहे थे और चार लोग पिस्तौल लेकर दुकान में दाख़िल हुए लेकिन डकैतों की उम्मीद से उलट दुकान संचालक ने उनका विरोध किया। डकैतों ने कई राउंड फायरिंग की, दो गोलियां संचालक के हाथ में लगीं। अंत मे सभी लुटेरे डर कर भाग गए लेकिन अपने साथ लाया हैंडबैग दुकान में ही छोड़ गए।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना की रात से ही पूरे शहर में नाकेबंदी कर दी गई थी। सीसीटीव में दिख रहे हुलिए को ध्यान में रखकर भी लोगों से पूछताछ की जा रही थी।

डकैतों का जो बैग ज्वेलरी शॉप में छूटा था उसमें पुलिस को गांजा बरामद हुआ। शक के आधार पर पुलिस ने गांजे का खरीददार बनकर एक संदेही के लिए जाल बिछाया। उसे पकड़कर पूछताछ की गई तब उसने गोलीकांड में शामिल होने की बात स्वीकार की। उससे मिली जानकारी के आधार पर पुलिस की एक टीम झारखण्ड रवाना हुई। झारखंड से आए चार में से तीन लोगों को पुलिस ने झारखण्ड जाकर गिरफ़्तार किया। घटना में शामिल अन्य 2 लोग बिलासपुर के ही रहने वाले हैं उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना में शामिल एक व्यक्ति एक्स आर्मीमैन बताया जा रहा है। एक अन्य आरोपी की तलाश की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि इस घटना की जांच के लिए 8 स्पेशल टीमें बनाई गई थीं। करीब 700 संदेहियों से पूछताछ व लगभग 200 सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखे गए।

गिरफ़्तार किए गए आरोपियों के नाम

1.दिनेश बांधेकर उर्फ बीनू पिता रूप महाजन 40 साल निवासी तालापारा, बिलासपुर।

2.राजू साव पिता कृष्णा कसेर उम्र 39 साल निवासी मरार गली मगरपारा, बिलासपुर।

3.मोहम्मद अजहर अंसारी उम्र 39 साल निवासी पुराना कब्रिस्तान करबला चौक थाना पतरातु जिला रामगढ़, झारखंड।

4.जितेंद्र शर्मा उर्फ छोटू ठाकुर उम्र 24 साल निवासी ग्राम हेहल थाना पतरातु जिला रामगढ़, झारखंड।

5.मोहम्मद नजीर अंसारी उम्र 22 साल निवासी रामगढ़ थाना नैसारा झारखंड।

आरोपियों के पास से घटना में इस्तेमाल की गई बंदूकें भी बरामद की गई हैं। पूछताछ में पुलिस को जानकारी मिली है कि उसलापुर गोलीकांड में शामिल ये सभी लोग पुराने अपराधी हैं इन लोगों ने 22 से भी ज़्यादा लूट की घटनाओं को अब तक अंजाम दिया है।

Related posts

जियो कोतवाली पुलिस, लड़की की पढ़ाई का ख़र्च उठाकर निसंदेह आपने पिता की कमी कम की है

News Desk

भूल-ग़लती : मुक्तिबोध, एक विश्लेषण

News Desk

लॉकडाउन : कोतवाली पुलिस की अपील “घर पर रहें”

News Desk