क्राईम पुलिस बिलासपुर

सायबर क्राइम के खिलाफ बिलासपुर पुलिस की तैयारी, बनाए जाएंगे सायबर मितान

राहुल त्रिपाठी की रिपोर्ट

जिले के सभी थानों के प्रभारियों को बनाया गया नोडल अधिकारी थाने के प्रत्येक कर्मचारियों को दी गई 25-25 लोगों को ट्रेनिंग देने की जिम्मेदारी
प्रशिक्षित लोग गांवों में जाकर प्रत्येक ग्रामीणों को करेंगे जागरूक

बिलासपुर। बढ़ते साइबर क्राइम को रोकने और लोगों को साइबर क्राइम से ठगी का शिकार होने से बचाने के लिए बिलासपुर पुलिस ने 22 अगस्त से 7 दिसंबर तक अभियान चलाएगी। जिले के सभी थानेदारों को अपने-अपने थाना क्षेत्र का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। थाने के प्रत्येक कर्मचारी 25-25 लोगों को साइबर क्राइम से बचने और जागरूक रहने के लिए ट्रेनिंग देंगे। प्रशिक्षित लोगों को साइबर मितान नाम से जाना जाएगा। प्रशिक्षित लोग गांवों में रहने वालों को जागरूक करेगें।

जिले में रहने वाले करीब 250 से अधिक लोग पिछले 7 महीनों में ऑनलाइन ठगी और साइबर क्राइम का शिकार हुए हैं। पुलिस ने एेसे लोगों की शिकायत पर अपराध दर्ज कर जांच करने के साथ-साथ आरोपियों को गिरफ्तार भी कर रही है। जिले में रहने वालों को साइबर क्राइम के प्रति जागरूक रहने और इससे बचने के उपाय जनता तक पहुंचाने के लिए बिलासपुर पुलिस ने 22 जुलाई से साइबर मितान अभियान चलाएगी। जिले के अधिकारियों ने सभी थानेदारों को अभियान से जुडक़र तत्काल लोगों को साइबर मितान बनाने की जिम्मेदारी दी है।

2 लाख साइबर मितान बनाने का लक्ष्य: अधिकारियों ने सभी थानेदारों को अपने-अपने अपने क्षेत्रों में 22 व 23 अगस्त के बीच दो दिनों मे जिले में कुल 2 लाख साइबर मितान बनाने का आदेश दिया है। एसपी प्रशांत अग्रवाल के आदेश के बाद थानेदारों ने 19 अगस्त से ही काम शुरू कर दिया है। कई थानेदारों ने अपने-अपने क्षेत्रों में 100 से अधिक साइबर मितान बना भी चुके हैं।

आरक्षक से लेकर एसआई करेंगे काम: जिले के थानों में पदस्थ आरक्षक से लेकर एसआई वर्ग के कर्मचारियों को साइबर मितान बनाने की जिम्मेदारी दी गई है। सभी कर्मचारियों को साइबर मितान की सूची थानेदार को सौंपने कहा गया है।

ऐसे काम करेगी विंग : थाने में पदस्थ प्रत्येक कर्मचारी 25-25 व्यक्तियों को साइबर मितान बनाएंगे। ट्रेनिंग लेने के बाद साइबर मितान अपने-अपने क्षेत्र में जाकर दूसरे ग्रामीणों को साइबर मिताने बनाने ट्रेनिंग देंगे। यह काम करीब सवा 3 महीने तक चलेगा। इस अवधि में जिले के प्रत्येक घर में एक साइबर मितान बनाने का लक्ष्य पुलिस ने रखा है।

Related posts

रक्षा टीम बिलासपुर कर रही महिला सुरक्षा, महावारी मिथ्या, समस्या एवं समाधान प्रशिक्षण कार्यक्रम

4 मई से खुलेंगी शराब दुकानें, केवल कंटेनमेंट एरिया में होगा प्रतिबंध

News Desk

आरक्षक के कोरोना पॉज़िटिव मिलने के बाद पचपेड़ी थाना सील, अन्य पुलिस कर्मियों के लिए जाएंगे सैम्पल

News Desk