क्राईम छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर

दिवाली में पुलिस सक्रीय: बिलासपुर में चांदी की सिल्लियां तो रायगढ़ में हांथी दांत ज़ब्त

बिलासपुर। दीपावली में चोरी का सामान खरीदने बेचने वाले सक्रीय हो जाते हैं पुलिस भी इनकी तलाश में रहती है।

शहर के एडिशनल एसपी उमेश कश्यप ने कल प्रेसवार्ता में बताया कि बिलासपुर गोड़पारा के रहने वाले नवनाथ एवले (पिता मधुकर ऐवले, उम्र 33 वर्ष,) और विजय सालोखे (पिता निवास राव सालोखे, उम्र 41 वर्ष) के पास से पुलिस ने 40 किलो चांदी की ईंट जिसकी अनुमानित कीमत 2540000 है और 4 क्विंटल तांबा जिसकी अनुमानित कीमत 1200000 है, ज़ब्त की है।

बिलासपुर पुलिस के साथ अवैध चांदी की सिल्लियों के साथ आरोपी

इन आरोपियों को चांदी की सिल्लियों के रंग हाँथ पकड़ा गया। ज़ब्त माल से संबंधित बिल या कोई अन्य दस्तावेज़ ये लोग प्रस्तुत नहीं कर पाए। आरोपियों को गिरफ़्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेज दया गया है।

ये सिटी कोतवाली और सिविल लाईन पुलिस की संयुक्त कार्रवाई थी। पुलिस ने बताया कि इस मामले में एक फ़रार आरोपी नितिन कदम उर्फ़ ब्रम्हदेव कदम पिता मचीन्द्र कदम, निवासी-गोड़पारा की अभी तलाश की जा रही है।

निरीक्षक शीतल सिदार, थाना प्रभारी सिटी कोतवाली, उपनिरीक्षक मनीष कांत, सउनि विजय शर्मा, आर.गोकुल जांगड़े, संदीप शर्मा, राजेश नारंग, लक्ष्मण चन्द्रा की इस कार्रवाई में अहम भूमिका रही।

रायगढ़ में बेशकीमती हाथी दात ज़ब्त

रायगढ़। त्यौहारों में चोरी के सामानों की अवैध ख़रीदी बिक्री पर कार्रवाई करने के निर्देश रायगढ़ एसपी अभिषेक मीणा द्वारा सभी संबंधित थानाक्षेत्रों को दिए गाय थे जिसके पालन में शहर एवं अनुविभाग स्तर पर पुलिस की पेट्रोलिंग, जांच बढ़ा दी गई है।

शहर में तगड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पुलिस के साथ साइबर सेल के स्टॉफ द्वारा मुखबिर सूचना पर क्षेत्र के युवक को अवैध रूप से बेशकीमती हाथी दांत की बिक्री के लिए ग्राहक तलाश करते समय काशीराम चौक के यात्री प्रतीक्षालय के पास पकड़ा गया है। जिसके पास से 02 नग अनुसूचित पशु से प्राप्त ट्राफी वस्तु (हाथी दांत) जप्त किया गया है। जप्त हाथी दांत की कीमत करीब 4 लाख रुपए बताई जा रही है।

रायगढ़ पुलिस की गिरफ़्त में हांथी दांत तस्करी का आरोपी

एडिशनल एसपी लखन पटले, सीएसपी योगेश कुमार पटेल (परि. भापुसे) के मार्गदर्शन पर चौकी प्रभारी जूटमिल उप निरीक्षक गिरधारी साव, प्रधान आरक्षक शंभू प्रसाद पाण्डेय, आरक्षक बनारसी सिदार, सत्यानंद यादव, महिला आरक्षक परसीना टोप्पो, हेमलता एक्का, सायबर सेल के प्रधान आरक्षक राजेश पटेल, बृजलाल गुर्जर, धनंजय कश्यप की सराहनीय भूमिका रही है।

Related posts

छत्तीसगढ़ में 31 मार्च तक जारी रहेगा लॉकडाउन, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

News Desk

लॉकडाउन के दौरान बच्चों के साथ हिंसा की शिकायत के लिए आ चुकी हैं 92 हज़ार कॉल

News Desk

रतनपुर: पेंशन लेने बैंक गई महिला के सूने मकान में ताला तोड़कर 65000 की चोरी, नकदी समेत चोर गिरफ्तार

News Desk