अभिव्यक्ति आंदोलन क्राईम छत्तीसगढ़ ट्रेंडिंग दलित पुलिस महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार राजनीति हिंसा

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चल रहे जंगल राज और तानाशाही का विरोध

बिलासपुर। उत्तर प्रदेश के हाथरस, बलरामपुर, व आजमगढ़ में हुई बलात्कार की विभत्स घटना और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अजय मोहन बिष्ट उर्फ योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चल रहे जंगल राज और तानाशाही के विरोध में आज शाम 5 से 7 बजे तक बिलासपुर संयुक्त नागरिक मोर्चा ने देवकी नंदन चौक में विरोध प्रदर्शन किया। मांग रखी कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री प तरह से असफल साबित हुए है औऱ बलात्कारी को बचाने की कोशिशें हो रही है।

हाथरस में दलित लड़की के साथ हुए बलात्कार और हत्या , बलरामपुर और आजमगढ़ में बर्बर बलात्कार , हाथरस में पीडिता के परिजनों के साथ लगातार हो रहे अत्याचार के विरोध में किसान नेता नंद कश्यप, बिलासपुर कांग्रेस के प्रवक्ता अभय नारायण राय, ऑल इंडिया लॉयार्स यूनियन के शौकत अली, राजेश शर्मा, नागेश्वर मिश्रा, आम आदमी पार्टी के सदस्य बेला जी, मानव अधिकार कार्यकर्ता अधिवक्ता प्रियंका शुक्ला ने सभा को संबोधित करते हुए अपनी बात रखी और ऐसी तानाशाह सरकार की तत्काल इस्तीफे की मांग रखी।

किसान नेता नंद कश्यप ने कहा कि “योगी आदित्यनाथ की सरकार में उत्तर प्रदेश में लॉ एंड आर्डर खत्म हो चुका है। भयंकर जातिवादी और तानाशाही सरकार तरीके से सरकार कांबकर रही है। दलितों और महिलाओं पे उत्पीड़न बढ़ गया है जिसका विरोध लगातार होगा।” आज गांधी जयंती है इसलिए उन्हें याद करते हुए कश्यप ने कहा कि “गांधी आज सबसे ज्यादा प्रासंगिक हैं क्योंकि उन्होंने मनुष्य के सम्मान से जीने के लिए प्रेम सद्भाव को बढ़ावा दिया और इसीलिए शहीद हुए। एक मनुष्य दूसरे मनुष्य का सम्मान करेगा तभी उसके भीतर की पाशविक और बदला लेने की प्रवृत्ति खत्म होगी।आज मोदी सरकार इसके विपरीत नफ़रत, सांप्रदायिक विभाजन की राजनीति कर रही है और इसलिए बलात्कार जैसी विकृतियां उभार पर हैं।”

कांग्रेस के प्रवक्ता अभय नारायण राय ने कहा कि “दलित बच्ची के साथ हुई इस घटना और उसके न्याय के लिए उठने वाली हर आवाज़ कभाम समर्थन करते हैं। ये विभत्स घटना मानवता को शर्मशार करने वाली है। उन्होंने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि एक तरफ तो वे हिन्दू धर्म के ठेकेदार बने फिरते हैं और दूसरी तरफ़ उनके राज में पीड़िता के शव को आधी रात को बिना किसी रीति रिवाज के परिवार की मर्ज़ी के बिना पेट्रोल डालकर जला दिया गया जो जी बताएं कि ये बात कहां से धर्मसम्मत हुई। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि योगी जी के दिमाग मे जातिवाद भरा हुआ है। मैं भी उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ, वहां व्याप्त जातिगत भेदभाव को अच्छे से जानता हूँ।”

मानव अधिकार कार्यकर्ता व आम आदमी पार्टी की नेत्री अधिवक्ता प्रियंका शुक्ला ने कहा कि “योगी आदित्यनाथ उर्फ ढोंगी बाबा उर्फ अजय बिष्ट की सरकार में जातिवाद का ज़हर बढ़ता दिख रहा है। दलित वर्ग की लड़की होने के कारण ही मामले में कार्यवाही होने में दिक्कत आ रही है।” उन्होंने यह भी कहा कि “खुद को हिन्दू सम्राट बताने वाले ढोंगी बाबा की सरकार हिन्दू विरोधी, दलित विरोधी, मजदूर विरोधी, महिला विरोधी सरकार है। इतनी विफल और घोर सांप्रदायिक सरकार के मुखिया को तत्काल इस्तीफा देना देना चाहिए।”

TUC के सचिव राजेश मिश्रा ने आंदोलन को समर्थन देते हुए आने वाले समय की चुनौतियों का सामना के लिए आगामी आंदोलन के लिए आवाहन किया।

इसी तरह ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन की तरफ़ से कार्यक्रम म शामिल हुए अधिवक्ता शौकत अली, आम आदमी पार्टी के नागेश्वर मिश्रा ने भी सभा को संबोधित करते हुए अपना समर्थन दिया व आंदोलन को तेज करने का आवाहन किया।

इस विरोध प्रदर्शन में नंद कश्यप CBA, शौकत अलीALU, नागेश्वर मिश्रAAP, राजेश शर्मा(ट्रेड यूनियन सचिव), अभय नारायण रॉय(प्रवक्ता INC) adv.प्रियंका शुक्ला(PUCL), सम्पा, राजिक अली, अमित, आसिफ, प्रतीक वासनिक, हितेश, सलीम काज़ी, फ़ैज़ काज़ी, के एम अंसारी व अन्य अधिवक्तागण, पूजा, सुरभि,रीता, बेला, नवल शर्मा, चंद्रकांत मानिकपुरी सहित तमाम अन्य लोग शामिल हुए।

Related posts

बारनवापारा अभ्यारण्य के ग्राम रामपुर के आदिवासी परिवार के साथ मारपीट करने वाले वन अधिकारी संजय रौतिया को निलंबित कर गिरफ्तार किया जाये : जन संघर्ष समिति, बारनवापारा दलित आदिवासी मंच,छतीसगढ़ बचाओ आंदोलन

News Desk

JOINT OPEN LETTER TO ANTI-FRA PETITIONERS IN SUPREME COURT।

News Desk

होटल ग्रैंड अम्बा संचालकों ने महिलाओं को बेल्ट लात घूँसों से पीटा, TI कह रहा समझौता कर लो, शहर के सभी TI पहुँचे सिविल लाईन

News Desk