अभिव्यक्ति आंदोलन कला साहित्य एवं संस्कृति छत्तीसगढ़ ट्रेंडिंग दलित बिलासपुर भृष्टाचार मजदूर महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार राजनीति वंचित समूह

वार्ड 25 में देखी गई फ़िल्म “काला” फिल्म में क्लीन मुंबई का नाम था बिलासपुर में स्मार्ट सिटी के नाम पर तोड़े जा रहे घर

बिलासपुर। तालापारा वार्ड 25 में तालाब के पास की झुग्गी बस्ती को सरकार द्वारा तोड़ने के निर्णय का बस्ती वाले लगातार विरोध कर रहे हैं। बस्ती के लोग गांधीवादी तरीके से सत्याग्रह करते हुए अपना विरोध दर्ज कर रहे हैं। कल विरोध के आठवें दिन बस्ती में रजनीकांत की फिल्म “काला” का प्रदर्शन किया गया।

फ़िल्म में मुंबई के झुग्गी बस्ती वाले इलाके “धारावी” के लोगों के संघर्ष की कहानी है।

फ़िल्म में “क्लीन मुंबई” के नाम पर गरीबों के घर तोड़ने की तिकड़म लगाई जा रही थी और बिलासपुर में “स्मार्ट सिटी” के नाम से ग़रीबों के घर तोड़ने के नोटिस दिए जा रहे हैं।

फ़िल्म में एक व्यक्ति बस्ती वालों को घर ख़ाली करने के लिए डराता धमकाता दिखता है उसी तरह बिलासपुर के विधायक भी बस्ती में आकर बस्ती वालों को धमका चुके हैं कि जो मिल रहा है ले लो वरना ये भी नहीं मिलेगा।

फ़िल्म में कुछ सरकारी लोग आंदोलन में शामिल एक महिला को मार डालते हैं। यहां बिलासपुर में सभापति महोदय भी आंदोलन में शामिल महिलाओं को मा – बहन की गालियां दे चुके हैं

फ़िल्म के बाद लोगों ने बातचीत की और कहा कि जिस तरह वो लोग एक होकर मक्कारों से लड़ते हैं और बस्ती को बचा लेते हैं वैसे ही हम भी एक होकर संघर्ष करेंगे और अपनी बस्ती को बचाएंगे।

बस्ती की समिति के लोगो ने बिलासपुर के नागरिकों से अपील की है कि हमारी लड़ाई में शामिल होइए। साथ ही आंदोलन में शामिल होने वाले लोगो ने मीडिया को धन्यवाद भी दिया।

Related posts

India has lots of newspapers and lots of readers and one big journalism problem.

News Desk

आॅल इंडिया पीपुल्स फोरम (AIPF) छत्तीसगढ़

News Desk

आज प्रस्तुत दस्तक में  कवि अफ़ज़ाल अहमद सय्यद की कुछ नज़्में….

News Desk