क्राईम पुलिस बिलासपुर भृष्टाचार

राम मंदिर के नाम पर अवैध चंदा वसूली शुरू: रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया की प्रदेश अध्यक्ष पर FIR दर्ज  

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले के साथ अवैध चंदा वसूली की आरोपी उषा आफले। आरोपी उषा आफले खुद को रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया की छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष बताती हैं।

बिलसपुर। अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के नाम पर अवैध रूप से चंदा वसूलने का मामला सामने आया है। बिलसपुर के सिविल लाईन थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई गई है। अवैध चंदा वसूली के इस मामले में रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आ) की छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष उषा आफले के नाम पर FIR दर्ज कराई गई है। आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले इसी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।

लोगों ने हमें बताया कि केंद्रीय रूप से एक समिति बनाई गई है “राम मंदिर निर्माण समिति” ये समिति ही देशभर में जिला स्तर पर चंदा इकट्ठा करने के लिए लोगों को नियुक्त करती है। मंदिर निर्माण के लिए दिए गए चंदे को समर्पण निधि कहा जाता है।

अवैध चंदा वसूली शिकायत दर्ज कराने वाले संदीप गुप्ता और ललित माखीजा ने बताया कि बिलासपुर में निधि समर्पण समिति के अध्यक्ष के तौर पर उन्हें नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि इस समर्पण निधि के एवज में दानदाताओं को अयोध्या समिति से जारी की गई रसीद दी जाती है, इस रसीद को व्यक्तिगत स्तर पर छपवाने की मनाही है।

सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है कि भारतीयनगर निवासी महिला उषा आफले राम मंदिर के नाम पर अवैध रसीद छपवाकर चंदा वसूली कर रही हैं। उन्होंने धन एकत्र करने के लिए फेसबुक, वाट्सएप आदि सोशल मीडिया पर अपना निजी एकाउन्ट नंबर भी जारी किया है। शिकायत में कहा गया है कि उक्त महिला को किसी भी प्रकार से अधिकृत नहीं किया गया है न ही समिति के माध्यम से उन्हें कोई रसीद या कूपन जारी किया गया है।

शिकायत के अनुसार ये रसीदें गोस्वामी प्रिंटर्स मगरपारा से छपवाई गई हैं। प्रिंटर ने शिकायतकर्ताओं को बताया है कि उसने 50 पन्नों की 6 किताबें आरोपी को नम्बरिंग के साथ छापकर दी हैं बाद में बिना नंबर के भी रसीद छपवाई गई है।

उक्त शिकायत पर उषा आफले पर धारा 419, 420 के तहत धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

Related posts

रक्षा टीम बिलासपुर कर रही महिला सुरक्षा, महावारी मिथ्या, समस्या एवं समाधान प्रशिक्षण कार्यक्रम

छत्तीसगढ़ . जशपुर : विधायक के रिश्तेदार को लड़कियों से छेड़छाड़ करने की छूट है?

News Desk

मरवाही मनरेगा घोटाला: सरपंच, सचिव और ठेकेदार ने लाखों हड़प लिए, मजदूरों ने किया चुनाव का बहिष्कार