किसान आंदोलन राजनीति

धान के बोनस की घोषणा, किसानों के संघर्ष की जीत ! -छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन

31 अगस्त 17
**
रमन सरकार द्वारा प्रदेश के 13 लाख किसानों के लिए 2100 करोड़ रुपए बोनस का छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन स्वागत करता है और यह मानता है कि यह किसानों के संघर्ष की जीत है l विदित हो कि पूरे प्रदेश में किसान स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, तीन सालों के बोनस की मांग और अल्पवर्षा वाले क्षेत्रों को सूखाग्रस्त घोषित करने संघर्षरत रहे हैं l दो दिन पहले ही जिला किसान संघ राजनांदगांव के बैनर तले चालीस-पचास हजार किसानों ने सूखे, कर्ज़ माफी बोनस और स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने प्रदर्शन किया, जिसने सरकार को बोनस की घोषणा करने मजबूर किया l प्रदेश के दो तिहाई मैदानी भाग में अल्प वर्षा से सूखे की स्थिति निर्मित हो गई है, इन जगहों पर 50% फसल प्रभावित हो चुकी है, कहीं कहीं तो किसानों ने खेत में जानवर छोड़ दिए वहां तो शत-प्रतिशत फसल चली गई l छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन मांग करता है कि इन क्षेत्रों में अविलंब सर्वेक्षण कर नुकसान का आंकलन कर बीमित किसानों को क्षतिपूर्ति दिया जाए और अन्य किसानों को राहत दिया जाए l
छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन प्रदेश में जल जंगल जमीन के संतुलित दोहन और टिकाऊ विकास सुनिश्चित करने काम करता है l प्रदेश में कृषक तभी सुरक्षित और संपन्न होगा जब उसकी जमीन को पानी मिले, अंधाधुंध औद्योगिकीकरण से बचे, पर्यावरण नियमों के पालन हों और बिना योजना कहीं भी कृषि जमीन पर उद्योग न खुलें, इस हेतु भूमि अधिग्रहण कानून, वनाधिकार कानून, और आदिवासी क्षेत्रों में पेसा कानून का समुचित और इमानदारी से पालन हो, साथ ही किसानों को स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के अनुसार लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य पूरे उत्पादन पर दिया जाए l जंगल काटने और बेतहाशा खदान खोदने से सिर्फ पर्यावरण पर ही नहीं वरन् मानसून पर भी विपरीत असर पड़ रहा है इसलिए कृषि और किसान हित में जंगल काटने और खदान खोदने पर खासकर व्यावसायिक खनन पर रोक लगे l हम सरकार से अनुरोध करते हैं कि किसान और प्रदेश के टिकाऊ विकास के लिए सरकार संवेदनशील हो और सूखा सर्वेक्षण कर राहत शुरू करे, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करे, वनाधिकार क़ानून, भूमि-अधिग्रहण कानून को गंभीरता से पालन करे तब तक, प्रदेश का किसान अपनी अस्मिता और स्वाभिमान की लड़ाई जारी रखेगा

भवदीय
आनंद मिश्रा नंदकुमार कश्यप रमाकांत बंजारे आलोक शुक्ला

Related posts

2018 विधानसभा चुनाव में रमन सरकार को उखाड़ फेकना है : गोपाल  राय , आम आदमी पार्टी की बिलासपुर में महती आमसभा .

News Desk

MoEFCC और कोयला मंत्रालय की रिपोर्ट SECL और JSPL को रायगढ़ में पर्यावरण उल्लंघन का दोषी ठहराती है; ग्रामीणों ने सिफारिशों के तत्काल समयबद्ध कार्यान्वयन की मांग की.

News Desk

गांधी_का_पुतला ःः दस कहानियां ःः अस़गर वज़ाहत 

News Desk