अदालत महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार राजनीति सांप्रदायिकता

नफ़रत के ख़िलाफ़ – छत्तीसगढ़ की आवाज, आज रायपुर में .

(एक गैर राजनीतिक पहल)

दिनांक 27 अगस्त 2017
समय शाम 5.30 बजे
स्थान तेलीबांधा तालाब
(मरीन ड्राइव )रायपुर

***

देश में, पिछले कुछ महीनों में, नफ़रत भरी भीड़ द्वारा की गयी हिंसक वारदातों ने सभी शांतिप्रिय नागरिकों को (चाहे वह किसी भी विचारधारा के हों) विचलित किया है. प्रधानमंत्री ने भी इस विषय पर लाल किले की प्राचीर से चिंता व्यक्त की है.
किसी एक व्यक्ति को भीड़ द्वारा घेर कर मार डालना (कारण जो भी हो) या खुले आम सड़क पर कोड़े मारना जैसी घटनायें हमरे समाज को सदियों पीछे ले गयी. क्या यह बात किसी भी संवेदनशील नागरिक के लिये निंदनीय और शर्मनाक नहीं है?
विभिन्न समुदायों का मिलजुल कर रहना ही हमारे “बहुरंगी भारत” की शक्ति है. आम नागरिक इस देश में शांत और सौहर्द्रपूर्ण वातावरण चाहता है. लेकिन कुछ मुट्ठी भर लोग नफरत और हिंसा के द्वारा समाज के ताने बने को छिन्न-भिन्न करने में लगे हैं. ऐसी स्तिथि में, देश के कई भागों में, आम नागरिक “नफ़रत के ख़िलाफ़” आवाज उठा रहे हैं.
यह मूक प्रदर्शन उपरोक्त परिपेक्ष में एक छोटी सी पहल है. अगर आप भी हमारे प्रयास में हिस्सा लेना चाहते हैं तो आइये –

दिनांक 27 अगस्त 2017
समय शाम 5.30 बजे
स्थान तेलीबांधा तालाब
(मरीन ड्राइव )रायपुर

*बहुरंगी भारत*

Related posts

बिलासपुर ,मुंगेली : नाबालिक लड़की से देहव्यापार और यौनिक हिंसा में लिप्त सफ़ेदपोश गिरोह की जाँच के लिए पीयूसीएल की टीम आई जी से मिली ,जाँच और कार्यवाही का दिया आश्वाशन .

News Desk

कोनी में महिला दिवस पर कराते प्रतियोगिता का आयोजन

News Desk

छत्तीसगढ़ः फ़ेसबुक पोस्ट के लिए डिप्टी जेलर निलंबित- bbc

cgbasketwp