आदिवासी महिला सम्बन्धी मुद्दे राजकीय हिंसा

दंतेवाड़ा: छात्राओं से राखी बंधवाने के चंद मिनट बाद ही सीआरपीएफ कर्मी बने वहशी, बाथरुम में घुस की छेड़छाड़ — जनसत्ता

31 जुलाई को हॉस्टल में एक निजी टीवी चैनल द्वारा रक्षाबंधन पर एक कार्यक्रम रखा गया था, जिसमें छात्राओं द्वारा सीआरपीएफ कर्मियों को राखी बांधा जाना था।

जनसत्ता ऑनलाइन
August 7, 2017 16:
**
छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों पर स्कूल के हॉस्टल में घुसकर छात्राओं से छेड़छाड़ करने के आरोप लगे हैं। छत्तीसगढ़ पुलिस मामले की जांच कर रही है। हॉस्टल के वार्डेन ने इस बारे में पुलिस में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत के मुताबिक दंतेवाड़ा जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर पालनार में यह घटना घटी है। दंतेवाड़ा के एडिशनल एसपी अभिषेक पल्लव ने एचटी मीडिया को बताया कि हॉस्टल के वार्डेन ने पुलिस की वर्दी में आए अनजान लोगों के खिलाफ छात्राओं से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है, इसके बाद हमलोगों ने जांच शुरु कर दी है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक कुओकोंडा थाने में आईपीसी 354 के तहत एफआईआर दर्ज कर लिया गया है। पीड़ित छात्राओं से बात करने के बाद इस केस में सीआरपीसी की धारा 164 भी जोड़ा जा सकता है। एडिशनल एसपी के मुताबिक यह मामला काफी गंभीर है। उन्होंने कहा कि पुलिस जल्द से जल्द छात्राओं का बयान दर्ज कर आरोपियों की पहचान करेगी।

सामाजिक कार्यकर्ता हिमांशु के मुताबिक पालनार में सीआरपीएफ कैम्प से 100 मीटर की दूरी पर ही हॉस्टल है। वहां पहले भी सीआरपीएफ अधिकारियों द्वारा उत्पीड़न की घटनाएं सामने आती रही हैं। इस मामले के बाद आदिवासी नेता सोनी सोरी ने स्कूल का दौरा करने की कोशिश की लेकिन वार्डेन ने उन्हें मना कर दिया। बता दें कि नक्सल प्रभावित इलाकों में पहले भी सुरक्षा बलों पर मानवाधिकारों का हनन करने और महिलाओं से बलात्कार करने की खबरें आती रही हैं।
**

Related posts

अब_गुजरात_में_प्रवासी_हुआ_हिन्दुस्तान !! ःः  यह एक्ट करने का समय है ; खामोशी महंगी पड़ जाएगी. -बादल सरोज 

News Desk

देश के वंचित वर्ग द्वारा बुलाये गये भारत बंद का पीयूसीएल छतीसगढ समर्थन करता हैं .

News Desk

बोद्धिकता के खिलाफ पुलिस और असामाजिक संघटनो का गठजोड़ .सुप्रीम कोर्ट और मानवाधिकार आयोग से भी खफा है ये लोग ,राज्यसरकार को भी घेरा ,

cgbasketwp