क्राईम छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर महिला सम्बन्धी मुद्दे हिंसा

होटल ग्रैंड अम्बा संचालकों ने महिलाओं को बेल्ट लात घूँसों से पीटा, TI कह रहा समझौता कर लो, शहर के सभी TI पहुँचे सिविल लाईन

होटल ग्रैंड अम्बा संचालकों ने महिलाओं को बेल्ट लात घूँसों से मारा, सिविल लाईन TI प्रार्थियों पर बना रहे समझौता करने का दबाव

बिलासपुर। हेमुनागर निवासी मोहनलाल जैसवानी का आरोप है कि उनके परिवार की महिलाओं व अन्य सदस्यों के साथ होटल ग्रैंड अम्बा के संचालकों द्वारा हुई मारपीट की FIR करवाने वे शाम 4 बजे से सिविल लाईन थाने में बैठे हैं लेकिन पुलिस उनकी FIR दर्ज नहीं कर रही है।

मोहनलाल जैसवानी ने बताया कि थानेदार शनिप रात्रे मारपीट करने वाले होटल संचालकों का पक्ष ले रहे हैं और हम पर दबाव बना रहे हैं कि तुमलोग समझौता कर लो तुमलोगों ने ग़लत जगह पार्किंग की थी इसलिए मारपीट हुई।

पार्किंग के नाम पर हुआ विवाद

शहर के पुराना बस स्टैंड के पास स्थित होटल ग्रैंड अम्बा में आज नविंद्र कुमार साव (मंगला) और मोहन लाल जैसवानी (हेमू नगर) दोनों परिवारों के बीच शादी समारोह चल रहा था। कार पार्किंग की मामूली बात पर शुरू हुआ विवाद इतना बढ़ गया कि नौबत मारपीट तक आ गई।

घटना का वीडियो भी सामने आया है जिसमें होटल प्रशासन के लोग जैसवानी परिवार की महिलाओं और पुरुषों को बुरी तरह पीटते नज़र आ रहे हैं।

उल्टे प्रार्थी पक्ष को ही थाने में बिठा लिया गया है

प्रार्थी जैसवानी परिवार का कहना है कि वे लोग घटना के तुरंत बाद ही थाने आ गाय थे। लेकिन TI ने आरोपियों पर कारवाई करने के बजाए प्रार्थी पक्ष के ही एक व्यक्ति को कई घंटों से थाने में बिठा रखा है।

FIR न करने की TI की ज़िद

एक बात समझ से बिल्कुल परे है कि थानेदार शनिप रात्रे महोदय प्रार्थी पक्ष की FIR लिखने की बजाए समझौता कर लेने पर इतना ज़ोर क्यों दे रहे हैं। प्रार्थियों ने TI शनिप रात्रे से सबके सामने जब ये सवाल पूछा कि साहब आप हमारी FIR क्यों नहीं लिख रहे हैं? किसका दबाव है आपके ऊपर? तो होनहार TI महोदय की बोलती बंद हो गई।

प्रार्थी परिवार का ये भी अंदेशा है कि शायद TI थानेदार महोदय को होटल संचालकों की तरफ़ से कोई ऑफर आया होगा शायद इसीलिए वे प्रार्थियों की नहीं आरोपियों की तरफ़दारी कर रहे हैं।

पुलिस प्रशासन हाय हाय के लग रहे नारे

इस समय प्रार्थी पक्ष याने सिंधी समाज के सैकड़ों लोग सिविल लाईन थाने में मौजूद हैं और TI की एकतरफ़ा कारवाई के विरोध में नारेबाज़ी कर रहे हैं।

सिविल लाईन TI के हाथ पैर फूले नही संभाल पा रहे थाना शहर के सभी थाना प्रभारी पहुँचे सिविल लाइन

रसूखदारों की तरफ़दारी करने और प्रार्थियों की फ़रियाद अनसुनी कर देने जैसे गंभीर आरोप सिविल लाईन TI पर कई बार लग चुके हैं। आज के मामले में भी उनका यही चहरा दिखाई दिया है। लेकिन प्रार्थी भी अपनी बात पर अड़े हुए हैं।

सिविल लाईन थाने का बिगड़ता माहौल संभालने में TI शनिप रात्रे आज पूरी तरह असफल नज़र आए इसलिए सरकंडा,तारबहार, कोतवाली व अन्य थानों के थानाप्रभारियों को बुलाया गया है ताकि वे अपने अनुभव और समझदारी से मामले को हैंडल करें।

Related posts

बेला भाटिया पर हमले के तथ्य सौंपने के बाबजूद पुलिस ने क्लोजर रिपोर्ट दी कोर्ट में : बेला पहुंची कोर्ट ,कहा कोर्ट न स्वीकारे रिपोर्ट नहीं तो हाईकोर्ट जाने को तैयार .

News Desk

जामिया के छत्रों को पीटती पुलिस का वीडियो आया सामने

Anuj Shrivastava

अमन की पहल : 22 दिसंबर 2019 को जामा मस्जिद इलाके के दौरे के बाद की रिर्पोट

Anuj Shrivastava