छत्तीसगढ़ मजदूर महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार वंचित समूह

नाबालिग से बलात्कार, सामाजिक बहिष्कार, मजदूरों के बकाया वेतन व उन्हें अन्य राज्यों में बंधक बनाए जाने के विरोध में GSS करेगा SDM कार्यालय में विरोध प्रदर्शन

रुघासीदास सेवादार संघ GSS एवं लोक सिरजनहार युनियन LSU बिलाईगढ़ में करेगी प्रदर्शन, तैयारी बैठक संपन्न

बलौदाबाज़ार/बिलाईगढ़। गुरुघासीदास सेवादार संघ GSS एवं लोक सिरजनहार यूनियन LSU द्वारा बिलाईगढ़ में गुरुवार 28 अक्टूबर को जन समस्याओं को लेकर SDM कार्यालय के समक्ष जनप्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन पत्र सौंपने की तैयारी की जा रही है।

GSS/LSU प्रमुख लखन सुबोध ने कहा कि संविधान को खत्म कर मनुवादी तालिबानी फासिस्ट ताकतें लोगों को गुमराह कर देश के लोकतांत्रिक तानाबाने एवं मानवाधिकार को खत्म करना चाहती हैं। इसकी रक्षा के लिए जन समाज को आगे आना पड़ेगा और जगह-जगह ललकार हल्ला रैली संगठित करनि पड़ेगी।

नाबालिग से बलात्कार पुलिस नहीं कार रही कारवाई

बैठक में सामाजिक बहिष्कार एवं अंर्तजातीय विवाह से प्रताड़ित लोगों ने जानकारी साझा की। धार्मिक स्वतंत्रता के हनन के कई मामले सामने आए। एक ऐसा भी मामला सामने आया जिसमें एक नाबालिग बच्ची जिसे माँ-बाप नहीं हैं, उसका इकलौता भाई कमाने खाने प्रवासी मजदूर बनकर पंजाब चला गया था। उस बच्ची के साथ बलात्कार की दुर्घटना कारित की गई। पुलिस के पास शिकायत भी की जा चुकी है लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया आरोपी अब भी बाहर घूम रहा है।

प्रेम विवाह करने वाले जोड़े को जन से मरने की धमकी

अंर्तजातीय विवाह करने वाले जोड़े को (साहू लड़का -सतनामी लड़की ) जिन्हें मारपीट-प्रताड़ित-जुर्माना करने की धमकी दी गई है। इससे डरकर वे लोग छिपते हुए जम्मू मजदूरी करने चले गए हैं। अब GSS/LSU उन्हें खोजकर छत्तीसगढ़ वापस ला रहा है और उन्हें कानूनी संरक्षण एवं उन्हें प्रताड़ित करने वालों के खिलाफ FIR करवाने भी पहल की जाएगी। इस दम्पति के परिवारों का सामाजिक बहिष्कार का दिया गया जिसकी रिपोर्ट पुलिस में की जाने पर उन्हें कथित “समाज” के ठेकेदार जान से मार डालने की धमकी दे रहे हैं। इसके खिलाफ भी FIR की जाएगी।

पैसों के लालच में दो साहू परिवारों का सामाजिक बहिष्कार

एक मामला ऐसा भी आया है जिसमें आर्थिक गतिविधियों के मामले (तालाब में मछली पालन संबंधी) लाभ पाने के लिए सामाजिक ठेकेदारों ने (साहू समाज ने) दो साहू परिवारों का सामाजिक-बहिष्कार कर दिया है। इसके खिलाफ भी FIR की जाएगी।

300 प्रवासी मजदूरों के 34 लाख पुलिस ने किए ज़ब्त

बिलाईगढ़ परिक्षेत्र के करीब 300 प्रवासी मजदूरों को लंबित मजदूरी पेमेंट करने के लिए मजदूर मुखियाओं द्वारा अजमेर राजस्थान से लाए जा रहे करीब 34 लाख रुपए को पुलिस, इनकम टेक्स विभाग द्वारा संदिग्ध बताकर जब्त किया गया और मजदूरों की मजदूरी होने के पुख्ता सबूत होने के बाद भी पैंसा मजदूरों को नहीं दिया जा रहा है। इस पर भी प्रशासन द्वारा दखल देने के लिए ज्ञापित किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ का मजदूर जम्मू में बंधक

एक प्रवासी मजदूर जिन्हें जम्मू-काश्मीर में बंधक बना लिया गया है। शिकायत के बाद उन्हें प्रशासन द्वारा भट्ठा मालिक से मिलीभगत कर मामले को दबा दिया और मजदूर परिवारों से मारपीट किया जा रहा है।

इन सब मामलों पर GSS/LSU को प्राप्त अन्य मामलों पर बिलाईगढ़ में जोरदार प्रदर्शन की तैयारी की जा रही है।

Related posts

सेक्स सीडी और वारेन हेस्टिंग : सूचनाओं का बढ़ता दायरा, एकाधिकारवादी सत्ता की बेचैनी- नन्द कश्यप

News Desk

सामाजिक बहिष्कार पर रोक लगे  /सामाजिक बहिष्कार के विरोध सक्षम कानून आवश्यक- डा.दिनेश मिश्र 

News Desk

सुप्रीम कोर्ट, इंदौर उच्च न्यायालय में 8 फरवरी, 2017 के सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुपालन की निगरानी पर जारी कार्यवाही में हस्तक्षेप नहीं करेगी

News Desk