क्राईम छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर राजनीति

छवि खराब करने लगाया गया है झूठा आरोप, रज्जब अली के जाने का है दुख, जांच में करेंगे पूरा सहयोग : अकबर खान, तैयब हुसैन

बिलासपुर। शहर के पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष रह चुके और वर्तमान में कंस्ट्रक्शन सामग्री के सप्लाई का काम करने वाले सरकंडा चांटीडीह निवासी नेता रज्जब अली का शव उनके ही घर के पेड़ पर झूलता मिला है। शव से एक सुसाईड नोट भी बरामद हुआ है। सुसाईड नोट में उन्होंने समाज के लोगों को आगामी त्योहार की बधाई दी है साथ ही मुख्यमंत्री से अपने परिवार के लिए सुरक्षा की मांग की है।

मृतक रज्जब अली के बेटे हमाम अली ने शहर के दो कांग्रेस नेताओं अकबर ख़ान और तैयब हुसैन को पिता की मौत का जिम्मेदार बताया है।

सुसाईड नोट में किसी का नाम नहीं

घटना सुबह तड़के 4 से 5 बजे के आसपास की बताई जा रही है। मौके पर पहुंची पुलिस ने एक सुसाईड नोट भी जप्त किया है। एसएसपी पारुल ने बताया कि मृतक के परिवार ने जिन कांग्रेस नेताओं पर आरोप लगाए हैं उनके या किसी भी अन्य व्यक्ति के नाम का या जमीन संबंधी किसी भी विवाद का कोई उल्लेख सुसाईड नोट में नहीं किया गया है। परिवार के लोगों का डीटेल बयान लिया जाएगा और तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

तैयब हुसैन ने मीडिया के सामने रखा अपना पक्ष

आरोपों का सामना कर रहे कांग्रेस नेता तैयब हुसैन भी खुलकर मीडिया के सामने आए और अपना पक्ष रखा। तैयब ने कहा कि परिवार द्वारा लगाए जा रहे ये सभी आरोप पूरी तरह झूठे हैं। ये आरोप किसी के कहने पर जानबूझ कर लगाए जा रहे हैं। परिवार को धमकाने का जो आरोप हमपर लगाया जा रहा है यदि उसमें ज़रा भी सच्चाई होती तो कोई न कोई सबूत( वीडियो, सीसीटीवी फुटेज, कॉल रिकॉर्डिंग या गवाह) भी जरूर सामने आता। उन्होंने कहा है कि हम जांच में पुलिस का पूरा सहयोग करेंगे।

आरोप बेबुनियाद, राजनीतिक छवि खराब करने की साजिश : अकबर, तैयब

घटना के बाद शहर का राजनीतिक माहौल फिर से गरमा गया है। फ़ोन पर हमसे बात करते हुए नेता अकबर खान ने कहा है कि “रज्जब अली से मेरा कभी कोई विवाद नहीं रहा है। पिछले लगभग सालभर से तो मेरी उनसे मुलाकात ही नहीं हुई है तो विवाद का सवाल ही नहीं उठता।” अकबर खान ने कहा है कि “मामले की निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए, यदि ज़रूरत पड़े तो मामला विशिष्ट जांच एजेंसियों को सौंप दिया जाए। हम जांच में प्रशासन का पूरा सहयोग करेंगे।”

Related posts

तमनार के कोसमपाली धरना स्थल को पुलिस ने किया तहस नहस ,कुछ अनशनकारीयों को पुलिस ने जबरदस्ती उठाया

News Desk

असहमति की आवाज को कुचल दो! : उत्तम कुमार, सम्पादक दक्षिण कोसल

News Desk

प्रश्न यह नहीं कि अगर मोदी नहीं तो कौन’, बल्कि हमें पूछना चाहिए कि ‘मोदी दोबारा आएं, तब क्या होगा?’

News Desk