अभिव्यक्ति आदिवासी आंदोलन छत्तीसगढ़ मानव अधिकार

बस्तर में शांति स्थापना की मांग, छ.ग. सर्व आदिवासी समाज द्वारा वर्चुअल सामूहिक प्रदर्शन

बस्तर। शुक्रवार को पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश में छ.ग. सर्व आदिवासी समाज के आह्वान पर विभिन्न समाजिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा वर्चुअल रूप से घर पर रहकर सामूहिक धरना प्रदर्शन किया गया जिसमे पूरे प्रदेश से लगभग 5 लाख से ज्यादा की संख्या में जिला ब्लॉक के सामाजिक सदस्यों सहित सर्व आदिवासी समाज युवा प्रभाग, महिला प्रभाग ने भाग लेकर तख्ता, बैनर, पोस्टरों द्वारा बस्तर में शान्ति स्थापना, नक्सलवाद खत्म करने एवं बस्तर में तैनात पुलिसिया बटालियन फोर्स को बस्तर से बाहर करने का शासन प्रशासन से आह्वान किया गया।

प्रदेश सचिव आयुष सिंह राज ने जानकारी दी कि इस वर्चुअल धरना प्रदर्शन में सर्व आदिवासी समाज के प्रदेश अध्यक्ष सोहन पोटाई सहित पूरे प्रांतीय पदाधिकारीयों ने अपना समर्थन दिया। प्रदेशंकारियों ने अपने पूरे परिवार के साथ वर्चुअल रूप में धरने पर बैठकर नक्सलियों को बस्तर छोड़ने एवं बस्तर में तैनात पुलिसिया बन्दूक के दम पर आम आदिवासी गरीब लोंगो के ऊपर होने वाले बर्बर अत्याचार के प्रति कड़ी निंदा प्रकट करते हुए बस्तर में शान्ति स्थापित करने की मांग की।

Related posts

13 जनवरी और 14 जनवरी 2018 को जाति उन्मूलन आंदोलन का चतुर्थ अखिल भारतीय सम्मेलन नागपुर में.

News Desk

भगत सिंह की चिंतन परम्परा, हमारा लोक और स्वाधीनता संघर्ष. : प्रताप ठाकुर

News Desk

बस्तर का सच यानी बिना पांव का झूठ – सत्याग्रह

cgbasketwp