Covid-19 छत्तीसगढ़ फैक्ट फाइंडिंग रिपोर्ट्स भृष्टाचार मानव अधिकार राजकीय हिंसा राजनीति वंचित समूह शिक्षा-स्वास्थय

छत्तीसगढ़ : स्वास्थ्य मंत्री के गृह ज़िले के कोविड अस्पताल में कीड़े वाला खाना परोसने की खबर चलाने वाले पत्रकार पर FIR दर्ज कर दी गई है

सरकारी विज्ञापनों से पोषित सरकार का भोंपू बन चुके अख़बारों और चैनलों की सरकार की तारीफों में कसीदे पढ़ने वाली खबरें तो आप रोज़ ही देखते हैं।

आज देखिए असली खबर

छत्तीसगढ़ के खोजी पत्रकार मनीष कुमार की ये वीडियो रिपोर्ट janjwaar ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल में प्रकाशित हुई है। स्वास्थ्य मंत्री टी एस बाबा के गृह ज़िले अंबिकापुर में 50 लाख की लागत से बने स्पेशल कोविड-19 अस्पताल में मरीजों को कीड़े वाला खाना परोसा जा रहा है वो भी भरपेट नहीं।

और क्या ग़ज़ब इत्तेफाक है कि इस रिपोर्ट के बाद मनीष कुमार के ख़िलाफ़ अंबिकापुर में किसी दूसरे मामले को लेकर FIR दर्ज कर दी गई है।

ये कीड़े वाला खाना जिस अस्पताल में परोसा जा रहा है वो अस्पताल स्वास्थ्य मंत्री टी एस बाबा के घर से मात्रा 300 मीटर दूर है।

देखिए पूरी वीडियो रिपोर्ट

ये आरोप नहीं है लेकिन इस रिपोर्ट के चलने के बाद मनीष कुमार पर FIR दर्ज होने से शंका तो ज़रूर हो रही है कि सरकार की पोलखोल करने वाले पत्रकारों पर कहीं जानबूझ कर तो मामले दर्ज नहीं करवाए जा रहे हैं। अब प्रदेश की जनता को मनीष जैसे ज़िम्मेदार पत्रकारों के साथ खड़े हो जाना चाहिए।

Related posts

लोकेश शौरी की गिरफ्तारी के विरोध में चक्का जाम .

News Desk

PUCL Condemn the criminal complaint against AIB and its founders!

News Desk

SECL प्रभावित ग्राम पंचायत के ग्रामीण अटल विकास यात्रा में शामिल नहीं होंगे .

News Desk