छत्तीसगढ़ ट्रेंडिंग पुलिस बिलासपुर राजनीति सांप्रदायिकता

छत्तीसगढ़ : भाजपा आईटी सेल पर फेसबुक में बघेल सरकार पर आपत्तिजनक टिपण्णी का आरोप, दो गिरफ़्तार एक फ़रार

बिलासपुर। एक मस्जिद की तस्वीर के साथ छत्तीसगढ़ की बघेल सरकार पर मुस्लिम तुष्टिकरण की हद पार कर देने का आरोप लगाने वाली फेसबुक पोस्ट कल से राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बनी हुई है। कांग्रेस समर्थकों ने बताया कि ज्ञानवापी से लेकर तमाम धार्मिक बिन्दुओं का ज़िक्र करते हुए भाजपा आईटी सेल की टीम हल्ला बोल के सदस्यों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर अनर्गल आरोप लगाए हैं। गौरेला और बिलासपुर के सिविल लाईन थाने में कांग्रेस समर्थकों ने इसके खिलाफ भारतीय दण्ड विहान की धरा 505 के तहत FIR दर्ज कराई है। गौरेला क्षेत्र से भाजपा के मंडल महामंत्री पुष्पेन्द्र त्रिपाठी और बिलासपुर की गौरी गुप्ता के खिलाफ़ नामज़द FIR दर्ज हुई है. पुष्पेन्द्र त्रिपाठी को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है पर गौरी गुप्ता अभी भी फरार हैं।

अरविन्द शुक्ला के आवेदन पर हुई FI

मण्डल अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला अपने समर्थकों के साथ थाने पहुंचे और भाजपा पर मुद्दाविहीन हो जाने का आरोप लगाया। अरविन्द शुक्ला ने कहा कि हमारे शांत प्रदेश छत्तीसगढ़ में उत्तर प्रदेश की तरह धार्मिक उन्माद फैलाने की साज़िश कर रही है भाजपा।

NSUI के प्रदेश महासचिव लक्की मिश्रा ने भी दिया आवेदन

देर शाम NSUI के प्रदेश महासचिव लक्की मिश्रा ने भी बिलासपुर के सिविल लाईन थाने में आवेदन देकर कोरिया से भाजपा की सोशल मीडिया प्रभारी डॉक्टर रश्मि सोनकर के खिलाफ़ इसी मामले में FIR करने के लिए आवेदन प्रस्तुत किया गया है। महासचिव लक्की मिश्रा ने कहा कि भाजपा के पास अब कोई मुद्दा नहीं बाख गया है इसलिए जिस तरह देश के बाकी हिस्सों में भाजपा धार्मिक उन्माद फैला रही है वैसा ही वो अब छत्तीसगढ़ में भी करने की कोशिश कर रही है।

भाजपा सोशल मीडिया के राकेश चंद्राकर गिरफ्तार

वायरल फेसबुक पोस्ट

सिविल लाईन पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए भाजपा सोशल मीडिया प्रबंधन विभाग सदस्य (छ.ग.) राकेश चंद्राकर को गिरफ्तार कर आज कोर्ट में पेश किया है। इस गिरफ्तारी का विरोध करने भाजपा नेता महेश चंद्रिकापुरे समेत कई लोगो आज घाटों तक सिविल लाईन थाने में जमे रहे।

वायरल फेसबुक पोस्ट

Related posts

31 जुलाई  : सफाई कर्मचारी दिवस ,अस्तित्व का सवाल है…..–जुलैखा जबीं

News Desk

इन आदिवासी लडकियों को मिलना था सरकारी अनुदान पर 3 साल से एक रुपिया भी नहीं मिला

News Desk

देश_तो_सरकार_के_साथ_है_मगर_आप_किसके_साथ_हैं_सरकार ःः बादल सरोज

News Desk