किसान आंदोलन

गिरफ्तार सभी किसान साथियो को तुरंत रिहा करो – छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन

किसान संकल्प यात्रा रोकना लोकतंत्र पर हमला हैं

गिरफ्तार सभी किसान साथियो को तुरंत रिहा करो – छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन

फसल कर्ज माफ़ी, पिछले तीन वर्षो का बोनस, स्वामीनाथन आयोग की सिफ़ारिशो के अनुसार समर्थन मूल्य लागत का डेढ़ गुना करने एवं फसल बिमा भुगतान की प्रमुख मांगो को लेकर दिनाक 19 सितम्बर 2017 से शुरू होने वाली संकल्प यात्रा के किसानो को राजनांदगांव में गिरफ्तार कर रोका गया जो किसानो के शांतिपूर्ण विरोध के अधिकार पर हमला है l खुद छत्तीसगढ़ सरकार 2014 में उक्त मांगो के वादे के साथ ही जीत कर आई थी और किसान उन वादों को पूरा करने की ही मांग कर रहे थे l 15 सितम्बर 2017 को जिला किसान संघ एवं छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन ने पुलिस प्रसाशन के साथ सहयोग करते हुए संकल्प यात्रा के संबंध में सम्पूर्ण जानकारी लिखित में दी थी और प्रसाशन ने 19 सितम्बर से शुरु होने वाली यात्रा का पूर्ण आश्वासन दिया था और यात्रा के राजधानी में आने के रास्ते को स्वीकृत किया था l परन्तु अकसमात ही 18 सितम्बर की रात से ही गाँव में पुलिस द्वारा मुनादी करा कर किसानो को यात्रा में शामिल न होनी की हिदायत दी गई और सुबह सुबह जिला किसान संघ के सुदेश टेकाम, रमाकांत बंजारे, चंदू साहू, छन्नी साहू, संजीत, मदन साहू सहित सैकड़ो लोगो को गिरफ्तार कर लिया गया l यह कदम न सिर्फ लोकतंत्र पर हमला है बल्कि छत्तीसगढ़ की भारतीय जनता पार्टी के लिए भी आत्मघाती साबित होगा l
विदित हो की राजनांदगांव के 50 हजार किसानो ने 28 अगस्त 2017 को अनुशाषित प्रदर्शन कर यह दिखलाया था की उनका कानून और व्यवस्था पर पूरा विश्वाश है और वो अपनी जायज मांगो को मांग रहे है फिर इन्ही किसानो की शांति पूर्ण पद यात्रा को रोकना छत्तीसगढ़ शासन के किसान विरोधी चरित्र को उजागर करता है l
सूखे की मार झेल रहे किसानो के आर्थिक हालत गंभीर हैं, आजीविका चलाने और अगली फसल के लिए लागत जुटाना भी कठिन हो गया हैं l प्रदेश में लगातर किसान आत्महत्याएं करने के लिए विवश हैं l इस स्थिति में किसानों के प्रति संवेदनशील रवैया अपनाते हुए पिछले सभी वर्षो को बोनस, सूखा रहत राशी और बीमा का शीघ्र भुगतान किये जाने की बजाए दमनात्मक कार्यवाही से राज्य सरकार का किसान विरोधी चेहरा भी उजागर हुआ हैं l
किसान संकल्प यात्रा के आयोजक पूरे प्रदेश में उक्त मांगो पर किसान आन्दोलन का विस्तार करेंगे l आन्दोलन के नेताओ की रिहाई के बाद रणनीति तैयार की जाएगी l

 

छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन

Related posts

रायगढ़ ; तमनार की हवा में घुल रहा है ज़हर , एनजीटी ने दिया आदेश, कमेटी की नियुक्त . जिला प्रशाशन के साथ मिलकर करेगी नियंत्रण .

News Desk

18 जुलाई को राजिम और 24 जुलाई को खल्लारी क्षेत्र के विधायकों का घेराव

News Desk

हमारी धरोहर और पहचान ही पेड़ है अगर हम उसे ही उजाड़ देंगे तो फिर कुछ नही बचेगा हमारे पास… : पेड़ो को बचाने हेतु पदयात्रा. : नेहरू चौक से सेंदरी .बिलासपुर .

News Desk