मध्यप्रदेश : ‘अंग्रेज़ों भारत छोड़ो’ की तर्ज़ पर चुटका परमाणु परियोजना के प्रभावितों ने ‘कंपनियां आदिवासी क्षेत्र छोड़ो’ का दिया नारा

Category : प्राकृतिक संसाधन

अभिव्यक्ति आंदोलन नीतियां पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन

कोरबा : प्रदूषण का संकट आज भी उसी तरह बरकरार है

News Desk
सिर्फ दस्तावेजों को बना देना ही समस्या का समाधान नही हैं…”कोरबा एक्सन प्लान” के साथ भी कुछ ऐसा ही है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के...
आदिवासी किसान आंदोलन जल जंगल ज़मीन दलित पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन मजदूर मानव अधिकार

हसदेव अरण्य को बचाने खनन परियोजनाओं के खिलाफ आयोजित हुआ सम्मलेन

News Desk
निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के कहा “खनन परियोजनाओं के खिलाफ ग्रामसभा के संकल्पों का करेंगे पालन” । 23 फरवरी 2020 को हसदेव अरण्य क्षेत्र के ग्राम...
औद्योगिकीकरण किसान आंदोलन जल जंगल ज़मीन पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन भृष्टाचार मानव अधिकार

ग्रामसभा की असहमति के बावजूद कोल खनन परियोजना हेतु करवाई जा रही पेड़ों की गड़ना को ग्रमीणो ने रुकवाया

Anuj Shrivastava
हसदेव अरण्य क्षेत्र में कमर्शियल माइनिंग (व्यावसायिक उपयोग) हेतु आंध्र प्रदेश मिनरल डेवलपमेन्ट कार्पोरेशन को मदनपुर साउथ कोल ब्लॉक का आवंटन किया गया है। इस...
कला साहित्य एवं संस्कृति जल जंगल ज़मीन दस्तावेज़ पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन शिक्षा-स्वास्थय

नई किताब : बच्चों को जलवायु परिवर्तन के मायने समझाएगी यह किताब

Anuj Shrivastava
हमारी दुनिया बादल रही है। पहले ये बदलाव धीमी गति से हो रहा था लेकिन अब हालात बादल चुके हैं। आज आप अपनी आँखों के...
आंदोलन जल जंगल ज़मीन पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन भृष्टाचार महिला सम्बन्धी मुद्दे शासकीय दमन

गंगा की चिंता कीजिए : विमल भाई व पूरन सिंह राणा

Anuj Shrivastava
23 वर्षीया साध्वी पद्मावती को 20 घंटे बाद दून अस्पताल द्वारा पूरी तरह स्वस्थ घोषित किए जाने पर प्रशासन को आखिर उनको सम्मान वापस मातृ सदन, हरिद्वार लाना...
अदालत पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन भृष्टाचार

भूमाफियाओं और बेजा कब्जाधारियों ने हड़प लिया बिलासपुर के माधो तालाब का आधे से ज़्यादा हिस्सा

Anuj Shrivastava
बिलासपुर और उसके आसपास के इलाकों मे ज़मीन माफियाओं का पूरा एक तंत्र सक्रीय है। बैक डेट में फ़र्जी रजिस्ट्री करवाकर ज़मीन हड़पने का धंधा...
अभिव्यक्ति आदिवासी किसान आंदोलन जल जंगल ज़मीन प्राकृतिक संसाधन मजदूर मानव अधिकार

हज़ारों किसानों ने जंतर मंतर में किया प्रदर्शन, वन अधिकार कानून में सुधार की मांग

Anuj Shrivastava
आज 21 नवम्बर को अखिल भारतीय किसान सभा और आदिवासी अधिकार राष्ट्रीय मंच सहित भूमि व वन अधिकार आंदोलन से जुड़े 200 से ज्यादा किसानों,...
औद्योगिकीकरण जल जंगल ज़मीन प्राकृतिक संसाधन फैक्ट फाइंडिंग रिपोर्ट्स

देश के 22 लाख तालाबों पर इमारतें तान कर अब हम पानी को रो रहे हैं

Anuj Shrivastava
एक समय था जब भारत में करीब 24 लाख तालाब हुआ करते थे। हर गांव की अपनी संस्कृति और अपना तालाब होता था। यूं कहें...
आदिवासी आंदोलन जल जंगल ज़मीन पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन मानव अधिकार राजकीय हिंसा

चौथा दिन : अडानी के ख़िलाफ़ ग्रामीणों का विरोध प्रदर्शन

Anuj Shrivastava
हसदेव अरण्य बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले सूरजपुर खनन परियोजनाओं के खिलाफ धरने का आज चौथा दिन है. ग्रामीणों ने कहा अब एक इंच...
आदिवासी किसान आंदोलन जल जंगल ज़मीन पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन मानव अधिकार

परसा कोल ब्लाक को निरस्त करने की मांग, हसदेव अरण्य बचाओ संर्घष के आन्दोलन का आज दूसरा दिन

Anuj Shrivastava
हसदेव अरण्य बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले परसा कोल ब्लॉक खनन परियोजना को रद्द करने की मांग के साथ सूरजपुर ज़िले के ग्राम तारा...