पेड़ से पूछ कर उसकी टहनी तोड़ने वाला आदिवासी समुदाय भला जंगलों के विनाश की स्वीकृति कैसे देगा? इसलिए अब उनकी सांस्कृतिक हत्या की साज़िश हो रही है

Category : दस्तावेज़

कला साहित्य एवं संस्कृति जल जंगल ज़मीन दस्तावेज़ पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन शिक्षा-स्वास्थय

नई किताब : बच्चों को जलवायु परिवर्तन के मायने समझाएगी यह किताब

Anuj Shrivastava
हमारी दुनिया बादल रही है। पहले ये बदलाव धीमी गति से हो रहा था लेकिन अब हालात बादल चुके हैं। आज आप अपनी आँखों के...
कला साहित्य एवं संस्कृति दस्तावेज़

भोरमदेव मंदिर : किसने बनाया, कैसे पड़ा ये नाम

Anuj Shrivastava
शोधकर्ता व आलेख अजय चंन्द्रवंशी भोरमदेव मंदिर के निर्माता निर्धारण की समस्या छत्तीसगढ़ के खजुराहो के रूप में प्रसिद्द भोरमदेव का मंदिर अपने स्थापत्य और...
कला साहित्य एवं संस्कृति दस्तावेज़

राजाबेंदा का पुरातत्व

Anuj Shrivastava
आलेख व संकलन – अजय चन्द्रवंशी, कवर्धा, छ.ग. मो.9893728320 भोरमदेव क्षेत्र में फणिनागवंशी कालीन अवशेष बिखरे पड़े हैं। ये अवशेष मुख्यतः मैकल पर्वत श्रेणी के...
कला साहित्य एवं संस्कृति दस्तावेज़ विज्ञान

एक पुरातत्ववेत्ता की डायरी

Anuj Shrivastava
नई सीरीज़ सीजीबास्केट के पाठकों के लिए आज से एक नई सीरीज़ प्रस्तुत कर रहे हैं “एक पुरातत्ववेत्ता की डायरी” जानकारियों मे दर्शन समेटे ये...
ट्रेंडिंग दस्तावेज़ पर्यावरण मानव अधिकार राजनीति शिक्षा-स्वास्थय

भोपाल जैसी 329 और त्रासदियां अब भी देश में पानप रही हैं

Anuj Shrivastava
दुनिया के सबसे बड़े रासायनिक हादसों में से एक भोपाल गैस त्रासदी को 35 साल हो चुके हैं. इसके असर से अब भी बच्चे बीमारियों...
कला साहित्य एवं संस्कृति दस्तावेज़

छत्तीसगढ़ : घटियारी का शिव मंदिर

Anuj Shrivastava
भोरमदेव के फणिनागवंशियो के अवशेष मैकल श्रेणी के समानांतर दूर-दूर तक फैले हैं. उत्तर में पचराही से लेकर दक्षिण में खैरागढ़ क्षेत्र तक विभिन्न स्थलों...
दस्तावेज़ राजकीय हिंसा

निकोलस चाचेस्कू, वो निरंकुश तानाशाह जो अल्कोहल से धोता था हाथ

Anuj Shrivastava
19 अक्टूबर को बीबीसी हिन्दी में प्रकाशित तानाशाह निकोलस चाचेस्कू के जीवन पर आधारित रेहान फज़ल का लेख सीजीबास्केट के पाठकों के लिए प्रस्तुत है....
अभिव्यक्ति कला साहित्य एवं संस्कृति दस्तावेज़ राजनीति

हिंसक समय में गांधी 150 : एक पुनरावलोकन

Anuj Shrivastava
आलेख : बादल सरोज एक  किसी भी व्यक्ति या विचार का मूल्यांकन करने का सही तरीका उसे उसके देश-काल में बांधकर समझना है  ; गांधी को समझना...
अभिव्यक्ति ट्रेंडिंग दस्तावेज़

शंकर गुहा नियोगी तुम कहां हो !

Anuj Shrivastava
आलेख : कनक तिवारी जिन्दगी किसी हासिल का नाम होती है। चाहे असफलता ही क्यों न हासिल हो। जिंदगी में धड़कन होती है। कशिश होती...
कला साहित्य एवं संस्कृति दस्तावेज़

शाबाश अग्रज : अग्रज नाट्य दल बिलासपुर की बेहतरीन पेशकश – ” मंगल से महात्मा ” आज़ादी का सफ़रनामा . नवल शर्मा

News Desk
?? ध्वनि प्रकाश संयोजन की कसी सजावट संग , नृत्यनाटिका के ज़रिये , आज़ादी की लड़ाई के नब्बे साल का कथानक बुन देना वाकई काबिल...