Uncategorized

चीन तक हो रही है छत्तीसगढ़ के मजदूरो की गुलामी के लिए तस्करी



चीन तक हो रही है छत्तीसगढ़ के मजदूरो  की गुलामी के लिए तस्करी 


रायपुर. छत्तीसगढ़ में मानव तस्करी के अंतरराष्ट्रीय गिरोह की सक्रियता उजागर होने के बाद अब एक और चौंका देने वाला खुलासा हुआ है। यह गिरोह जांजगीर-चांपा के 12 मजदूरों को 15 अगस्त को सिंगापुर में कंस्ट्रक्शन वर्क कर रही चीनी कंपनी सीनो हाइड्रो का गुलाम बनाने वाला था। इनके पासपोर्ट, वीजा, टिकट बन गए थे, लेकिन “पत्रिका” की खबर के बाद सक्रिय हुई पुलिस से गिरोह के मनसूबों पर पानी फिर गया। कबूतरबाजी का मुख्य सरगना अहमदाबाद निवासी संदीप फरार हो गया। पुलिस के हत्थे चढ़े विजय वर्मन व विकास सोनवानी छत्तीसगढ़ में संदीप के लिए ही काम करते थे। जांजगीर एसपी प्रशांत अग्रवाल ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि इन मजदूरों को सिंगापुर जाने से रोक लिया गया है।
चार खेप में भेजा
पुलिस के मुताबिक दलाल विजय हाई स्कूल पास है। उसके पास से बीए और एमए की फर्जी डिग्री बरामद की गई है। चौंकाने वाली जानकारी यह मिली कि वह 2013 से मई-2015 के बीच चार खेप में मजदूरों को मलेशिया भेज चुका है। इनमें से कई मजदूरों को महीनेभर कोलकाता और चेन्नई में रखा गया।
और दलालों की होगी गिरफ्तारी
पुलिस का दावा है कि मलेशिया में बंधक बनाए गए 22 मजदूरों को भेजने के मामले में जल्द ही गिरोह के कई और दलालों की गिरफ्तारी की जाएगी।
सीनो हाइड्रो भेजे जाने थे मजदूर
पत्रिका की पड़ताल के मुताबिक कुछ समय पहले मलेशिया रहकर आए विजय को अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करों ने ज्यादा कमीशन देने का लालच दिया था। इसके बाद उसने साथी विकास और अन्य दलालों के साथ मिलकर जांजगीर के 12 मजदूरों को सीनो हाइड्रो की सिंगापुर ब्रांच में भेजने की पूरी तैयारी कर ली थी। उन्हें कोलकाता से फ्लाइट से भेजा जाना तय किया गया था।

Related posts

जापानी प्रधानमंत्री के दौरे के दौरान प्रस्तावित भारत-जापान परमाणु समझौता तुरंत वापस लें !

cgbasketwp

स्तन ढकने का अधिकार पाने के लिए केरल में गैर ब्राम्हण महिलाओं का ऐतिहासिक विद्रोह

cgbasketwp

मानीष कुंजाम पर सरकारी संरक्षण में एक समुदाय विशेष की आस्थाओं के आहत होने के नाम पर किए जा रहे हमलों का छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन कड़े शब्दों में भर्त्सना करता है

cgbasketwp