Uncategorized

हाड़ कंपकपा देने वाली ठंड में यहां के आदिवासियों की हालत देख सिहर उठेंगे

Photo हाड़ कंपकपा देने वाली ठंड में यहां के आदिवासियों की हालत देख सिहर उठेंगे आप

2016-12-26 14:44:39



<img src=http://img.patrika.com/upload/icons/photo.png alt=Photo Icon title=Photo Icon valign=middle width=16 height=16 /> हाड़ कंपकपा देने वाली ठंड में यहां के आदिवासियों की हालत देख सिहर उठेंगे आप

आरती सिंह/रायपुर. मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को खुद से पहले सुला देता हूं, मगर हर सुबह ये मुझसे पहले जाग जाती हैं…कुछ ऐसे ही हालातों को बयां करती ये तस्वीर छत्तीसगढ़ के सर्वाधिक ठंडे पर्यटन स्थल मैनपाट की है।

कड़ाके की ठंड का मुकाबला

यहां हाड़ कंपा देने वाली हवा और 5.4 डिग्री पर गिरे तापमान में जब लोग हीटर और रजाई के साथ घरों में दुबके होते हैं तो अंबिकापुर के मैनपाट में एक दुनिया ऐसी भी है, जहां लोग मवेशियों के बीच पुआल से कड़ाके की ठंड का मुकाबला करते हैं। हर कोई उस पुआल से सर्दी से दो-दो हाथ करता दिखता है। यहां के मांझी आदिवासियों को मवेशियों के बीच पुआल (पैरा) में सोते देखकर एकबारगी आप भी सिहर उठेंगे।
cold
विकास पथ पर अग्रणी होने का दंभ भर रहे राज्य में इनकी स्थिति अब भी जस की तस है और वे गरीबी के चलते रोटी-कपड़ा और मकान जैसी सुविधाओं से कोसों दूर हैं। मैनपाट के सभी 39 पंचायतों में रहने वाले करीब 20 हजार मांझी आदिवासियों की खस्ता माली हालत सरकारी योजनाओं पर सवाल उठाती नजर आती हैं। 
temperature
हाड़तोड़ मजदूरी के बाद रात में उन्हें सर्दी के सितम से भी रोजाना इसी तरह सामना करना होता है। रविवार को यहां का तापमान 5.4 डिग्री सेल्सियस रहा, जो कई बार शून्य तक भी चला जाता है। इसके अलावा इन पुआलों में जहरीले जीव-जंतुओं के काटने और आगजनी जैसी घटनाओं का भी खतरा बना रहता है।
Cold

उत्तरी हवाओं से और गिरेगा तापमान

शनिवार व रविवार के तापमान में ज्यादा अंतर नहीं था, लेकिन फिर भी रात में ठिठुरन वाली ठंड जारी है। रविवार को प्रदेश में सबसे कम तापमान 9 डिग्री अंबिकापुर, जगदलपुर और राजनांदगांव में दर्ज किया गया। वहीं, इस दिन प्रदेश का औसत न्यूनतम तापमान 14 डिग्री था। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, आने वाले दिनों में बस्तर व अंबिकापुर संभाग में कड़ाके की ठंड पडऩे की संभावना है।
उत्तरी बर्फीली हवाओं के कारण यहां का तापमान और गिरेगा। इससे इन क्षेत्रों में शीत लहर के आसार हैं। मौसम वैज्ञानिक उमेश राय के अनुसार, जल्द ही पश्चिमी विक्षोभ बनने की संभावना है, इसके असर से प्रदेश में ठंड और बढ़ेगी।

Related posts

यह हार, भाजपा की नहीं, मोदी की– डॉ वेद प्रकाश वैदिक

cgbasketwp

लू उगलते छत्तीसगढ़ के उदयोग

cgbasketwp

The threats of abuse and death to Dr. John Dayal are one more disturbing events in recent times.

cgbasketwp