क्राईम छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर भृष्टाचार राजनीति

बिल्हा PDS घोटाला : आरोपी फ़रार काँग्रेस नेता गौरव अग्रवाल की तलाश जारी

बिलासपुर। गऱीबों के लिए राशन दुकानों मे मिलने वाले चावल की चोरी और उसे राईस मिलों में अवैध रूप से बेचने के मामले में पुलिस अधीक्षक दीपक झा के नेतृत्व में पुलिस की एक विशेष टीम ने बीते दिनों बड़ी कारवाई करते हुए सरगांव और बिल्हा से तीन लोगों को गिरफ़्तार किया है और साथ में 500 बोरी पीडीएस चावल भी ज़ब्त किया गया है।

गिरफ़्तार तीन लोगों मे से दो, विजय कुमार पात्रे और दौलत राम पात्रे जो कि सरगांव के रहने वाले हैं उनपर राशन दुकानों से चावल चुराने का आरोप है। तीसरा आरोपी मन्नालाल अग्रवाल बिल्हा स्थित लक्ष्मी राइस मिल का मैनेजर है। आरोप है कि इसी राईस मिल में चोरी का चावल बेचा जा रहा था।

धरमलाल कौशिक ने कहा कांग्रेस नेता की मिलीभगत

ये मामला अब हाईप्रफ़ाईल हो गया है। प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने ईस मामले में हस्तक्षेप करते हुए कहा है कि उक्त राईस मिल काँग्रेस के ज़िला महामंत्री गौरव अग्रवाल की है। धरामलाल कौशिक ने कहा है कि पीडीएस की ये कालाबाज़ारी कांग्रेस नेता के कहने पर ही की जा रही थी इसलिए उक्त नेता पर भी कारवाई की जाए। उन्होंने पुलिस पर कांग्रेस नेता को बचाने के आरोप भी लगाए हैं।

पुलिस ने कहा आरोपी कोई भी हो कारवाई की जाएगी

इन आरोपों को ख़ारिज करते हुए पुलिस ने कहा है कि  “मिल मैनेजर मन्नालाल ने अपने बयान में मिल मालिक कांग्रेस नेता गौरव अग्रवाल के कहने पर ही ये सब किया जाना बताया है जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों की सूची में गौरव अग्रवाल का नाम भी दर्ज कर लिया है।”

पुलिस ने बताया कि “कांग्रेस नेता गौरव अग्रवाल अपने निवास स्थान से फ़रार हो गया है लेकिन पुलिस लगातार उसकी खोजबीन कर रही है। पुलिस किसी भी दबाव में नहीं है सभी आरोपियों पर कड़ी कारवाई की जाएगी।”

पुलिस ने बताया है कि आरोपी कांग्रेस नेता के कई ठिकानों पर दबिश दी गई है जल्दी ही आरोपी पुलिस की गिरफ़्त में होगा।

 

क्या है पूरा मामला

बिलासपुर पुलिस को कुछ महीनों से लगातार पीडीएस दुकानों से चावल चोरी की शिकायत मिल रही थी। 7 अगस्त से पुलिस इस मामले पर निगरानी बनाए हुए थी। इसी बीच खबर मिली कि चोरी के पीडीएस चावल को एक पिक अप वाहन में भरकर बिल्हा की किसी राइस मिल में बेचने ले जाया जा रहा है। थाना प्रभारी पारस पटेल की टीम ने घेराबंदी कर वाहन में सवार दो लोगों को हिरासत में ले लिया। वाहन में 30 बोरी चावल बरामद किया गया।

वाहन चालक ने बताया कि वो इस चावल को बिल्हा की लक्ष्मी राइस मिल में बेचने के लिए ले जा रहे हैं। पुलिस ने राइस मिल के मैनेजर मन्नालाल अग्रवाल (50 वर्ष) को बुलाकर पूछताछ की। उसने कबूल किया कि वह पिछले कुछ महीने से सरगांव के समीप ग्राम चिरौटी के रहने वाले इन दोनों आरोपियों विजय कुमार पात्रे (38 वर्ष) और दौलत राम पात्रे (29 वर्ष) से चावल खरीदता रहा है।

इसके बाद पुलिस ने राइस मिल में छापा मारा और वहां से 500 बोरी पीडीएस चावल जब्त कर लिया। साथ ही पीडीएस चावल की 300 ख़ाली बोरियां भी बरामद की गई हैं।

तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। इस मामले में अन्य आरोपियों की भी तलाश जारी है।

Related posts

बिमल राय की फ़िल्म “दो बीघा ज़मीन” देखिए, “शम्भू” के खेत आज भी हड़पे जा रहे हैं

Anuj Shrivastava

उदयपुर के एसडीएम ने ज्ञापन लेने से किया था इंकार . एसडीएम को हटाया मुख्यमंत्री ने.

News Desk

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी का 6वां राज्य सम्मेलन सूरजपुर जिले के बिश्रामपुर में 1-3 फरवरी को: सीतापुर येचुरी आयेंगे .

News Desk