अभिव्यक्ति आंदोलन छत्तीसगढ़ बिलासपुर राजनीति रायपुर वंचित समूह

वादा भूल चुकी भूपेश सरकार की याददाश्त ठीक करने 47 हज़ार सफ़ाईकर्मी रायपुर के लिए रवाना

बिलासपुर। प्रदेशभर से 47 हज़ार अंशकालिक स्कूल सफ़ाई कर्मचारी आज गांधी जयंती के दिन राजधानी रायपुर के रवाना हुए हैं। प्रदेशभर के इन सभी सफ़ाई कर्मचारियों का आरोप है कि भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली काँग्रेस सरकार चुनाव के पहले किए हुए अपने सारे वादे भूल चुकी है। उन वादों को याद दिलाने ही वे सभी राजधानी में जमा हो रहे हैं। 5 अक्टूबर को रायपुर के बूढ़ा तालाब में सफ़ाई कर्मचारियों अपनी मांग पूरी करवाने के उद्देश्य से वृहद प्रदर्शन करेंगे।

महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर बिलासपुर संभाग के हजारों महिला पुरुष कर्मचारी जिला मुख्यालय में एकत्र हुए। अंशक़ालीन को पूर्णकालिन करने की मांग को लेकर सभी रायपुर राजधानी के लिए पदयात्रा कर रहे हैं। बस्तर, रायपुर, दुर्ग और सरगुजा संभाग से भी बड़ी संख्या में कर्मचारी एकत्रित हो रहे हैं। सभी 5 अक्टूबर को रायपुर के बूढा तालाब में एकत्र होंगे और अपनी माँगो को पूरी करने की माँग को लेकर वृहद प्रदर्शन करेंगे।

अंशकालिक डाक्युमरन्स

छत्तीसगढ़ अंशकालीन स्कूल सफाई कर्मचारी संघ के संतोष खांडेकर ने कहा कि वर्ष 2018 छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस के घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष टीएस सिंह देव ने छत्तीसगढ़ अंशकालीन स्कूल सफाई कर्मचारियों को वादा किया था कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनी तो उनकी मांगे पूरी की जाएंगी, अब तक सरकार का आधा कार्यकाल पूरा हो चुका है लेकिन उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा है। इसी के विरोध में पूरे प्रदेश से अंशकालीन सफाई कर्मचारी राजधानी में एकत्रित हो रहे हैं और आगामी 5 तारीख को सीएम हाउस का घेराव करेंगे।

अगर इस बीच कोई भी दुर्घटना होती है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी और जब तक मांग पूरी नहीं की जाएगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा। पदयात्रा की शुरुआत से पहले हजारों की संख्या में एकत्रित होकर कर्मचारियों ने महात्मा गांधी को नमन किया और राजधानी रायपुर के लिए पदयात्रा की शुरुआत की।

Related posts

गुड इवनिंग बिलासपुर :   अपने यहां कोई नहीं है लायक

News Desk

आज आपातकाल से भी बुरे हालात हैं .जन आधारित पावर प्लांट मजदूर यूनियन भिलाई.

News Desk

सोनी सोरी की वीडियो अपील .. आइये , चलिये …

News Desk