नीतियां शिक्षा-स्वास्थय

वापस लो विघटनकारी त्रिभाषा फार्मूला_मसौदा. – माकपा

प्राइमरी स्कूल में प्राथमिक शिक्षा से ही त्रिभाषा फॉर्मूला लागू किये जाने का सीपीआई (एम) पोलिट ब्यूरो साफ विरोध करता है । केंद्र सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा जारी राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे में इसका प्रावधान किया गया है । #सीपीआई_एम का विरोध किसी विशेष भाषा से नही है बल्कि इसलिए है कि उसके मत में सभी भारतीय भाषाओं को विकसित होने तथा फलने फूलने के अवसर सुनिश्चित किये जाने चाहिये ।

इस मसौदे में शामिल इस असंवेदनशील विचार के खिलाफ देश भर में, खासतौर से दक्षिणी प्रदेशों में जबरदस्त प्रतिक्रिया हुई है । सीपीआई (एम) यह समझती है कि इस तरह जबरिया थोपे जाने से भाषायी अंध-राष्ट्रीयता की भावनाएं जोर पकड़ेंगी और यह जनता और देश की एकता के लिए नुकसानदेह होगा ।

सख्त आलोचना को देखते हुए सरकार ने एक स्पष्टीकरण जारी करके कहा है कि यह दस्तावेज अभी सिर्फ मसौदे के रूप में जारी किया गया है । मुद्दे की अति संवेदनशील प्रकृति को देखते हुए सरकार को इस ड्राफ्ट/मसौदे को वापस लेना चाहिए और विवाद के समाधान के लिए नया ड्राफ्ट लाना चाहिए ।

़पोलिट ब्यूरो सभी जनतांत्रिक और सही सोच वाले नागरिकों, संगठनों, समूहों, व्यक्तियों, शिक्षा एवं संस्कृति के दायरे में सक्रिय लोगों से आग्रह करता है कि वे इसके खिलाफ आवाज उठायें और इस सरकार को इस व्यवधानी पहल को वापस लेने के लिए मजबूर करें ।

Related posts

शहीद नियोगी विध्यालय के लिये श्रमिक संगठन ने किया अद्भुत श्रमदान.

News Desk

कोरोना पॉजिटिव 5 नए मामले फिर आए सामने

News Desk

भोजन एवं काम के अधिकार पर तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेश नरायपुर में

Anuj Shrivastava