आदिवासी किसान आंदोलन जल जंगल ज़मीन दलित प्राकृतिक संसाधन

14 जून को रायगढ़ में 170 ख के प्रकरण की शिकायत सामूहिक रुप से दर्ज करेंगे . * आदिवासी दलित मजदूर किसान ,संघर्ष संगठन की पहल .

.

.
* दो दिवसीय प्रशिक्षण दिया अधिवक्ताओं ने .

**
रायगढ़ में आदिवासियों की जमीन बड़ी बड़ी कंपनिया किस तरह से छीनने में लगी हुई है वो किसी से अब छिपा नही है।लगातार वहां के साथी डिग्री प्रसाद चौहान जी सहित “आदिवासी दलित मजदूर किसान ,संघर्ष संगठन” के साथी इस लड़ाई में पहले से ही संघर्ष में लगे हुए है। जिसकी कड़ी में एमनेस्टी इंटरनेशनल के द्वारा दो दिवसीय कानूनी कार्यशाला दिनांक 09 व 10 जून 2017 को जनसुनवाई व कानूनी कार्यशाला का कार्यक्रम रायगढ़ में रक्खा गया।
जिसमे गांव के पीड़ित लोग उपस्थित हुए व अपनी पीड़ा सबके सामने रक्खी। छीनी गयी जमीन के संदर्भ में 170 ख के अनुसार कार्यवाही भी की गई है। 170 ख, जो कि ये कहता है कि कलेक्टर के अनुमति के बिना आदिवासियों की जमीन ,गैर आदिवासी नही ले सकता है। कल व आज भी कई अलग गांव के लोग कार्यक्रम में उपस्थित हुए व बाते रक्खी.
जिसके उपरांत कार्यक्रम में आये हुए वकील साथी अधिवक्ता सुधा भारद्वाज,अधिवक्ता किशोर नारायण,अधिवक्ता आशीष बेक,अधिवक्ता ईशा खण्डेलवाल, अधिवक्ता रघुनाथ,अधिवक्ता जग्गा जी ,अधिवक्ता प्रियंका शुक्ला सहित अन्य साथियो की मदद से गाव के पीड़ित आदिवासियों की जमीन के दस्तावेज बनाये गए।
आने वाली 14 जून को तैयार किये गए दस्तावेज,शिकायत पत्र सहित संबंधित उचित अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत कर दोषी लोगो व कम्पनियो के खिलाफ शिकायत दर्ज भी की जाएगी।

 

Related posts

आदिवासी और मुण्डा जन जाति : महादेव मुंड़ा .

News Desk

पुलिस सिपाही पर बलात्कार का आरोप ,रिपोर्ट दर्ज :.गीदम थाना

News Desk

पुण्यतिथि पर अनुपम भाई की याद :उनकी कोशिश से सूखाग्रस्त अलवर में जल संरक्षण का काम शुरू हुआ जिसे दुनिया ने देखा और सराहा। सूख चुकी अरवरी नदी के पुनर्जीवन में उनकी कोशिश काबिले तारीफ रही है / गोपाल राठी के संस्मरण

News Desk