आदिवासी आंदोलन कला साहित्य एवं संस्कृति धर्मनिरपेक्षता राजनीति शासकीय दमन सांप्रदायिकता

लो बन जाता हूं मैं भी एक अच्छा नागरिक ; हिमांशु को इस कविता के कारण फेसबुक ने एक महीने के लिये किया ब्लॉक .

लो बन जाता हूं मैं भी एक अच्छा नागरिक,
तो , मोदी की जय हो ,
अंकित गर्ग की जय हो ,
चिदम्बरम की जय हो ,

मैं कहूँगा ,
मुसलमान गद्दार हैं ,
आदिवासी नक्सली हैं ,
दलित कामचोर और गंदे होते हैं ,
अमीर अपनी मेहनत से अमीर बने हैं ,
गरीब अपने आलस के कारण गरीब हैं ,

तो बोलो , गुजरात के विकास की जय हो,
सलवा जुडूम की जय हो ,
पाकिस्तान को मिटा दो ,
कश्मीरियों को उडा दो,
गुजरात जैसा सबक सारे देश के मुसलमानों को पढ़ा दो ,
सेक्युलरिस्ट बुद्धीजीवियों को जेलों में सड़ा दो ,

बाबा रामदेव ,आसाराम बापू की जय हो ,
त्रिशूल की जय हो ,
गोडसे की जय हो ,

ब्राम्हणों के शुद्ध् वंश की जय हो,
टाटा की जय हो , अम्बानी की जय हो
फौज की जय हो,
पुलिस की जय हो ,
सरकार की जय हो ,

औरतो को सिर चढाने वाले ,
मुसलमानों के सामने हाथ जोड़ने वाले ,
नक्सलियों के एजेंट ,
साले बुद्धिजीवियों को सबक सिखा दो,

भाजपा को वोट दो,
संघ से संस्कार सीखो ,
सच्चे भारतीय बनो ,
गो मूत्र पियो ,
राम मंदिर के निर्माण के लिये खुल कर सहयोग करो ,

मोदी को अगला प्रधान मंत्री 
बनाने की मुहीम से जुड़ें
और हमारी तरह
देश के अच्छे नागरिक बने . 

**

देश के जाने माने गांधी वादी कार्यकर्ता 

Related posts

Statement condemning this morning’s CBI raids at the home & offices of Indira Jaising, Anand Grover, Lawyers Collective.

News Desk

ज़ख़्म – नज़्म गौहर रज़ा .

News Desk

आदिवासी क्षत्रों में पहले दिए गए अधिकारों को अब छीनने की तैयारी : पड़ताल , बस्तर : तामेश्वर सिन्हा ( बस्तर प्रहरी से साभार ) / आदिवासी लोग अपने समुदाय के आधार जल, जंगल, जमीन को बचाने के लिए आज भी संवैधानिक लड़ाई के ही पक्ष में है, और वो संविधान में दिए गए सारे अधिकारों के तहत अपनी लड़ाई लड़ रहे हैं। लेकिन मौजूदा सरकार आदिवासियों के संवैधानिक अधिकारों का हनन खाकी के दमन से करने में लगी हुई है। ऐसा ही छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में एक गांव बुरुंगपाल है

News Desk