आंदोलन

हरे भरे लहलहाते हरियाली के बीच कामरेडों का बैंड के साथ मार्च आने वाले समय में देश भर में वाम आंदोलन के विस्तार में प्रेरणादायक होगा : केरल के कासारगोड.

28.11.2017

केरल के कासारगोड जिले में सीपीएम कैरटेक्टिका क्षेत्र सम्मेलन नट्टलकुलम में समापन के अवसर पर जुलूस
हरे भरे लहलहाते हरियाली के बीच कामरेडों का बैंड के साथ मार्च आने वाले समय में देश भर में वाम आंदोलन के विस्तार में प्रेरणादायक होगा

 

90 के दशक में समाजवादी सोवियत संघ के बिखराव के बाद भले ही यह प्रचारित किया गया कि पूंजीवाद ही अंतिम विकल्प है परंतु इन 27 वर्षों ने यही सिद्ध किया कि पूंजीवाद तो बेहद क्रूर निकला जैसे ही समाजवादी रूस की चुनौती खत्म हुई उसने सारी दुनिया के मेहनतकशों पर मानों हमला ही कर दिया और विश्व शांति को आण्विक युद्ध के मुहाने पर ला खड़ा किया है कारपोरेट पोषित आतंकवाद से संपूर्ण मानवता पीड़ित है विषमता अपने किसी भी समय की तुलना में सर्वाधिक है चंद लोगों के हाथों सारी संपत्ति केन्द्रित है और अधिसंख्य जनता दिनों-दिन गरीब होते जा रही चारों ओर अराजकता और अव्यवस्था फैली हुई है मनुष्य के जान की कोई कीमत नहीं है उसके आत्मसम्मान से रोज खिलवाड़ हो रहा है यह बतलाता है कि शांति और प्रगति के लिए तथा मानव सभ्यता को बचाए रखने के लिए समाजवाद ही एक मात्र विकल्प है

***

नंद कश्यप की रिपोर्ट
 

Related posts

यातना, स्वप्न और जीवनः जी. एन. साईबाबा की कारावास कविताएं – अनुवाद अंजनी कुमार , प्रस्तुतकर्ता  सत्यनारायण पटेल 

News Desk

इन्‍द्रमल बाई की खुदकुशी – एक सांस्थानिक हत्या : शहरी मज़दूर संगठन, भोपाल

News Desk

SECL गेवरा ,दीपिका ,कुसमुंडा व कोरबा से प्रभावित किसान नहीं होंगे अटल विकास यात्रा में शामिल

News Desk