आंदोलन मानव अधिकार

सेंट्रल पार्क कनाट प्लेस ःः कैंड्ल मार्च ” “उन्मादी भीड़ नहीं जागरुक नागरिक बनिये”…  आज 19 फ़रवरी) शाम 6 बजे सेंट्रल पार्क कनाट प्लेस पहुंचिये. देश के लिए अपनी ज़िम्मेदारी को ग़ुस्से में तब्दील कीजिये.

19.02.2019

साथ आईये, सवाल उठाइये-
*कब तक हम अपने जवानों को लाशों के ढ़ेर में बदलते देखते रहेंगे?
*कब तक हम अपने प्यारे देश की सुरक्षा से “राजनैतिक खिलवाड़” बरदाश्त करते रहेंगे?
*कब तक हम सरकार की राजनैतिक महत्वाकांक्षाओं के आगे अपने देश के भविष्य की क़ुरबानी देते रहेंगे?
कब तक, आख़िर कबतक..??
आईये, कल(19 फ़रवरी) शाम 6 बजे सेंट्रल पार्क कनाट प्लेस पहुंचिये.
आप, हम और बहोत सारे नागरिक मिलकर एक सुर में, एक साथ आवाज़ उठाएं और मौजूदा सरकार से सवाल पूछें कि-
*पुलवामा आत्मघाती आतंकी हमले में CRPF के 40 से ज़्यादा सैनिकों की शहादत पर देश में राष्ट्रीय शोक की घोषणा क्यों नहीं की गई?
शायद इसलिए कि इसके बाद चुनावी रैलियां रद्द करनी पड़तीं?
* विस्फ़ोटक लेकर क़ाफ़िले तक पहुंचने और उसे जवानों की बस से टकराने वाली गाड़ी की जांच रिपोर्ट अब तक देश के सामने क्यों नहीं लाई गई?
* आतंकी घटना के बाद प्रधानमंत्री ख़ुद से राजनैतिक फ़ैसला लेने के बजाय इसकी ज़िम्मेदारी सेना पे क्यों डाल दी?
* सर्वदलीय बैठक बुलाकर प्रधानमंत्री ख़ुद बैठक में शामिल न होकर चुनावी रैली में भाषण देने क्यों चले गये?
* नोटबंदी के बाद भी आतंकवादी घटनाएं क्यों बंद नहीं हुईं??
* मौजूदा सरकार के कार्यकाल में सुरक्षा बलों के जवानों की शहादत का आंकड़ा क्यों बढ़ता गया?
इस जैसे ढ़ेरों सवाल आपके भीतर भी न सिर्फ़ उठ रहे होंगे बल्कि आपको बेचैन भी कर रहे होंगे.
तो आईये, 19 फ़रवरी यानि कल शाम 6 बजे कनाट प्लेस,सेंट्रल पार्क में,
ताकि हम, आप, सब, साथ मिलकर अपने नागरिक होने का फ़र्ज़ निभाएं,
सरकार से जवाब तलब करें- देश के हक़ में, लोकतंत्र के हक़ में, अपने संविधान के हक़ में…
आईये, साथ आईये, 3अपने झंडे, अपने बैनर, अपनी पहचान के साथ आईये… भारत और भारतीय लोकतंत्र को क़ायम रखने के लिए,
अपने बहादुर शहीदों के सम्मान में रौशन किए गये कैंडल्स की रौशनी में ग़रीबी, बेरोज़गारी, अशिक्षा, भुखमरी के अंधेरों के ख़िलाफ़ सवाल उठाकर, अपने शहीदों को श्रद्धांजलि देने आईये.
कल शाम 6 बजे, सेंट्रल पार्क, कनाट प्लेस में…

आयोजक- आप,सबके साथ फ़ातमा शेख़ सावित्री फुले ट्रेनिंग & काउंसिलिंग सेंटर (FSSFTCC)

Related posts

फिर भी हम गद्दार ही कहे गये …

cgbasketwp

मीडिया कर्मियों का शैला रसीद के साथ अशोभनीय व्यवहार और मोबलिंचिंग के समान हमला।भारत टीवी और जी टीवी की बद्तमीजी .देखिये पूरा वीडियो.

News Desk

सोहराबुद्दीन मामला ↪ अमित शाह को बरी किए जाने के खिलाफ ↪ वकीलों ने दायर की याचिका .: मुम्बई हाइकोर्ट

News Desk