आंदोलन मजदूर मानव अधिकार

सुधा भारद्वाज की गिरफ्तारी पर छत्तीसगढ़ शासन अपना रूख स्पष्ट करे. रायपुर में विशाल धरना और मुख्यमंत्री निवास तक रैली . छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन .

रायपुर . छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन की राज्य स्तरीय बैठक में निर्णय लिया गया कि छत्तीसगढ़ की मजदूर नेता और मानव अधिकार सामाजिक कार्यकर्ता सुधा भारद्वाज को केन्द्र की मोदी सरकार ने झूठे आरोपों में अन्य दस मानव अधिकार कार्यकर्ताओं के साथ लगभग एक साल पहले गिरफ्तार किया था .उनके खिलाफ़ प्रकरण भी जानबूझकर धीरे धीरे चलाया जा रहा हैं ।

सुधा जी छत्तीसगढ़ में 30 साल मजदूरों ,आदिवासियों ,दलितों के हक़ के लिये कानूनी लड़ाई लड़तीं रही तथा विस्थापन और आदिवासियों के जल जंगल भूमि बचाने की लडाई लड़ती रहीं है .इसके कारण केन्द्र की सरकार ने महराष्ट्र में भीमा कोरेगांव में दलितों के शोर्य गाथा के दिन हमले का बहाना बनाकर गिरफ्तारी की .

छत्तीसगढ़ कि सरकार उनके कार्यों से वाकिफ़ रही है. छत्तीसगढ़ बाचाओ आंदोलन और उनसें जुड़े 35 जन संगठनों की राज्य सरकार से अपील है कि वह अपना रूख स्पष्ट करे. इसलिये 15 जुलाई को सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिये राज्य स्तरीय धरना रायपुर मे दिया जायेगा धरने के पश्चात रैली मुख्यमंत्री के निवास तक जायेगी .जहां मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया जायेगा कि सरकार सुधा भारद्वाज के सबंध में महाराष्ट्र सरकार एवं केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर अपना रूख स्पष्ट करे और मुकदमा वापस लेने की मांग करे।

आयोजित धरने में प्रदेश भर के जनसंगठन ,मजदूर ,किसान ,दलित और आदि वासी संगठन शामिल होंगे.

**

Related posts

नई दिल्ली ःः उपवास का 103वां दिन: सरकार का मौन , देश के समाज कर्मियों व गंगा प्रेमियों का प्रतिरोध हुआ तेज.

News Desk

छतीसगढ़ सरकार का कमाल । सरकार करेगी शराब की बिक्री और बच्चों के 3000 स्कूल होंगे बन्द ।

cgbasketwp

संघ को जेएनयू पर गुस्सा क्यों आता हैं . ःः जगदीश्वर चतुर्वेदी .

News Desk