अदालत कला साहित्य एवं संस्कृति मानव अधिकार राजनीति सांप्रदायिकता

साध्वी प्रज्ञा को लाकर बीजेपी ने अपना नजरिया स्पष्ट किया- जावेद अख्तर.

23.04.2019

2019 के लोकसभा चुनाव ने देश को दो हिस्सों में बाँट दिया है। अब देश की जनता को निर्णय लेना है कि वो देश को किस दिशा ले जाना चाहते हैं। जावेद अख्तर ने बताया भारत को दुर्भाग्यवश आज तक ऐसा राजनेता नहीं मिला जो निष्पक्ष रूप से देश का संचालन कर सके। आज के न्यूज़ चैनेलों पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि आज मीडिया इन्फॉर्मेशन चैनल कम प्रोपेगंडा चैनल अधिक लग रहे हैं। देश की मौज़ूदा स्थिति पर तीस्ता सीतलवाड़ के साथ चर्चा करते हुए जावेद अख्तर ने अपनी  बेबाक़ राय रखी। देखिए इस वीडियो में…

Related posts

कन्हैया के पक्ष में बेगूसराय आ रहे हैं-देश भर से लेखक, कवि ,कलाकार और बुद्धिजीवी. : अपील आप भी आईये , लोकतांत्रिक ,धर्म निरपेक्षता की राजनीति विजय को निर्णायक बनायें.

News Desk

वन अधिकार अधिनियम पर सर्वोच्च न्यायलय का फैसला -; विश्व का सबसे बड़ा जंगल आधारित भू-सुधार(लैंड रिफार्म)पर तथा विस्थापन का बड़ा खतरा .; केंद्र और राज्य सरकारें तुरंत हस्तक्षेप करे या सरकार अध्यादेश लाये ; छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन .

News Desk

गांधी:150 – बिलासपुर में आयोजन की रूपरेखा बनीं.

News Desk