आंदोलन औद्योगिकीकरण मजदूर

श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ मजदूर यूनियन ने प्रतिरोध मार्च किया ,.

11.02.2018

  1. भिलाई 

आज सेक्टर1 भिलाई में  गार्डन से मजदूरो ने साइकिल रैली निकाली  गई , जिसमें विशेष रूप श्रमिक विरोधी नीति का विरोध किया गया, वही खम्हरिया में ई एस आई का अस्पताल का जगह चयनित किया गया है लेकिन निर्माण में विलंब किया  जा रहा है उसे अतिशिघ्र बनाये.

पी एफ पर्ची नही दी जाती जिससे मजदूरो को कटा हुआ राशि का पता नही चलता, मजदूर अगर अपने अधिकार के बारे में बोलते है तो तुरन्त उनका गेट पास छीन लिया जाता है, श्रम विभाग हासिए पर खड़ा है ठेकेदारों एवं पुंजिपतियो के सामने कुछ नही कर पाते कयोकि राजनीतिक दबाव हावी है ओउद्योगिक मजदूर हो या भिलाई इस्पात संयंत्र के मजदूर दहशत के जिंदगी जी रहे हैं

पर मजदूरो के अंदर ज़ोआग सुलग रही है ,वह अब रुकने वाला नही जेल, लाठी, गोली से भी दबने वाला नही जिस तरह मजदूरो के जीवन को नर्क के ओर धकेल रहे हैं वह बहुत ही दर्दनाक है लगातार आंदोलन तेज होगा आज साइकिल रैली को जनता का व्यापक समर्थन मिला सेक्टर 1 से सिविक सेंटर होकर जे पी सीमेन्ट, बोरिया गेट से मुर्गा चौक में समापन हुआ

**
लोकतांत्रिक इस्पात एवं इंजियनियरिंग मजदूर यूनियन, छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यकर्ता समिति, प्रगतिशील सीमेन्ट श्रमिक संघ, जनवादी सफाई कामगार यूनियन आज के साइकिल रैली में शामिल थें

Related posts

माकपा ने भाजपा को जनविरोधी, सांप्रदायिक व फासीवादी पार्टी करार दिया है तथा उसे निर्णायक रूप से परस्त करने, विधानसभा में वामपंथ की उपस्थिति सुनिश्चित करने और संविधान व लोकतंत्र की रक्षा के लिए एक धर्मनिरपेक्ष सरकार के गठन की आम जनता से अपील. ःः. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी छतीसगढ

News Desk

डॉ दिनेश मिश्र की बेल्जियम स्थित भारतीय दूतावास में भारत के काउंसलर से भेंट,

News Desk

भारतीय वन अधिनियम 1927 के प्रस्तावित संशोधन के विरुद्ध प्रदेश स्तरीय सम्मेलन: 23 अगस्त : रायपुर

News Desk