कला साहित्य एवं संस्कृति नीतियां शिक्षा-स्वास्थय

विकास !

सीमा आज़ाद

1
बच्चों की मौत की
हर बढ़ती गिनती
“विकास” पर फेंका गया पत्थर है,
और
हर दम तोड़ता बच्चा
मरता हुआ हमारा भविष्य ।
इस “विकास” के
लाभार्थी बनने से बेहतर है
हम सब भी मर जाएं
एक-एक पत्थर बन कर,
या उठा लें
एक-एक पत्थर
फेंकने के लिए
इस विकास पर।

2
यहां
सीढ़ी का इस्तेमाल
एंटीलिया* बनाने के लिए होता है।
आग में जलते बच्चों को बचाने के लिए
नहीं है कोई सीढ़ी।
इस “विकास” में लाशें
एंटीलिया तक पहुंचने की सीढ़ी है।

सीमा आज़ाद
18 जून 2019

*

Related posts

पुरातत्व : किरारी का काष्ठ स्तम्भ अभिलेख:संदर्भ छत्तीसगढ़ :. अजय चंन्द्रवंशी ,कवर्धा .

News Desk

गजानन माधव मुक्तिबोध जन्म शताब्दी कार्यक्रम.- मध्यप्रदेश प्रगतिशील लेख़क संघ . भोपाल में आयोजन

News Desk

वोल्गा से शिवनाथ तक” छूती है भिलाई की अंतरात्मा को, भिलाई की संस्कृति व परंपरा और इसके इतिहास पर चर्चा की भारतीय-रूसी प्रतिनिधियों ने.

News Desk