Uncategorized

लोक सभा जे अध्यक्ष ब्राह्मणों के उच्च स्थान के tweet को वापस लें

हमारे देश की संसद के एक सदन, लोकसभा के अध्यक्ष श्री ओम बिरला जो, कि एक संवैधानिक पद पर आसीन है ने कोटा में 8 सितंबर 2019 को ब्राह्मण महासभा की बैठक के बाद ट्वीट किया कि ” समाज में ब्राह्मणों का हमेशा से उच्च स्थान रहा है ये स्थान उनकी त्याग, तपस्या। का परिणाम है। यही वजह है कि ब्राह्मण समाज हमेशा से मार्गदर्शक की भूमिका में रहा है”।

इस बयान की हम कड़ी निंदा करते हैं। एक तो, किसी भी समाज का वर्चस्व स्थापित करना या एक समाज को अन्य समाजों के ऊपर घोषित करना यह संविधान के अनुच्छेद 14 के विरुद्ध है। यह एक तरीके से अन्य जातियों को हीन दृष्टि की भावना देता है। जाति वाद का बढ़ावा देता है।

एक व्यक्ति संवैधानिक पद पर रहते हुए इस तरह का वक्तव्य सार्वजनिक रूप से कैसे कह सकता है।

पीयूसीएल इस बयान की कड़े शब्दों में निंदा करता है और माननीय लोकसभा अध्यक्ष से यह बयान वापस लेने की मांग करता है ।

साथ ही देश के महामहिम राष्ट्रपति को इसकी शिकायत भी भेजेगा।

कविता श्रीवास्तव अध्यक्षा
अनंत भटनागर, महा सचिव
पीयूसीएल राजस्थान

Related posts

आदिवासियों में इकट्ठे होकर बैठकर फैसले लेने की प्रथा है . आदिवासी बहुत सभ्य हैं .

cgbasketwp

Where is Sodi Shambo?

cgbasketwp

Public Hearing on the Non- Implementation of Forest Rights and the Oppression of Forest Dwellers in Forest Areas of Lakhimpur Khiri

cgbasketwp