महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार शिक्षा-स्वास्थय

लीपापोती का खेलः किशोर की मौत का मामला किशोर की फांसी की जांच लटकी , 13 दिन से जांच करने नहीं गए अधिकारी.

सरकंडा स्थित बाल संप्रेक्षण गृह में 27 जुलाई को किशोरी की फांसी के फंदे पर लाश मिलने के मामले में 5 दिनों तक दंडाधिकारीजांच के बाद विरामलग गया है । मामले से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियों का खुलासा संप्रेक्षण गृह के 6 किशोरों के बयान पर निर्भर है । वहीं लेटलतीफी होने पर अधिकारी प्रशासनिक काम में व्यस्त होने का हवाला दे रहे हैं ।

सरकंडा अशोक नगर निवासी 17 वर्षीय किशोरको सरकंडा पुलिस ने चोरी के मामले में गिरफ्तार करने के बाद 19 जुलाई को केन्द्रीय जेल भेज दिया था । किशोर की मां उससे मिलने बाल संप्रेक्षण गृह पहुंची तब उसे बेटा वहां नहीं मिला था । किशोर की मां बेटे के संबंध में जानकारी लेने सरकंडा थाने गई थी , जहां उसे पता चला कि किशोर को केन्द्रीय
पता चला कि किशोर को केन्द्रीय जेल भेज दिया गया है । परिजनों ने किशोर का आधार कार्ड और स्कूल के सर्टिफिकेट दिखाए । आनन फानन में पुलिस ने कोर्ट में आवेदन देकर किशोर को केन्द्रीय जेलसे संप्रेक्षण गृह भेजने का आदेश जारी किया था । 26 जुलाई को रात 8 बजे किशोर को बाल संप्रेक्षण गृह दाखिल कर दिया गया था । रात में उसे संप्रेक्षण गृह के 46 बच्चों से अलग बाथरूम से लगे चेंजिंग रूम में सोने के लिए भेजा गया था ।
27 जुलाई को किशोर की लाश फांसी के फंदे पर लटकती मिली थी । मामले में पुलिस ने मर्ग कायम किया था । वहीं कलेक्टर संजय अलंग ने मामले में दंडाधिकारी जांच के आदेश दिए थे जांच का जिम्मा कार्यपालक दंडाधिकारी एआर टंडन को दिया गया था ।

हो सकते हैं बड़े खुलासे :

इस मामले में बाल संप्रेक्षण गृह के 6 किशोर ऐसे हैं जिनके बयान से किशोरी की मौत के मामले से जुड़े कई राज बाहर आ सकते हैं । किशोर बाल संप्रेक्षण गृह में पिछले कुछ वर्षों से हैं । इन किशोरों केबयानसेस्पष्टहोजाएगा कि संप्रेक्षण गृह में किशोर की मौत से पहले क्या क्या होता था ।

किशोर ने किए कई खुलासे :

जांच अधिकारी ने बाल संप्रेक्षणगृह से कुछ महीने पूर्व छूटे एक किशोर का बयान दर्ज किया है , जिसमें किशोर ने बाल संप्रेक्षण में तत्कालीन अधीक्षिकाद्वारा नियुक्ति किए गए बाउंसरों द्वारा किशोरों की पिटाई करने और उसके साथ जानवरों से भी बदतर व्यवहार करने का खुलासा किया था । किशोर नेजांच अधिकारी को बाउंसरों केनाम भी बताए हैं ।

पत्रिका ,बिलासपुर .

Related posts

फिर चर्चा में कल्लूरी, पीएम मोदी को बाहुबली बना यूपी में किया जीत का दावा

cgbasketwp

18 अगस्त 2019 को नवलपुर बेमेतरा जिला में गुरू बालक दास की 214 वीं जयंती समारोह : गुरुघासीदास सेवादार संघ[GSS]

News Desk

ऑस्ट्रेलिया : तानाशाही के ख़िलाफ़ सभी अखबारों ने आज पहला पन्ना काला छपा है

Anuj Shrivastava