अदालत अभिव्यक्ति आंदोलन मानव अधिकार राजनीति सांप्रदायिकता

राजसमन्द की घटना के विरोध में 16 दिसंबर को आयोजित शांति प्रदर्शन का हिस्सा बनें। : भोपाल के सभी अमन पसंद लोगों, संगठनों और आंदोलनों का साझा आयोजन.

15.12.2017 bhopal

राजस्थान के राजसमन्द में हाल ही में हुई एक दिलदहला देने वाली घटना में अफ़राज़ुल नाम के मज़दूर की हत्या कर उसको जला दिया गया। जिस शख्स ने इस जघन्य घटना को अंजाम दिया उसने अपने बच्चों से इसका वीडियो बनवाते हुए इस कुकृत्य को हिन्दू धर्म की रक्षा में उठाया हुआ कदम बताया। इस पैशचिकता से ज़ाहिर होता है कि तालिबान और आईएसआईएस सिर्फ़ एक धर्म या भौगोलिक सीमा तक ही सीमित नहीं बल्कि यह एक अमानवीय और असहिष्णु सोच है जो हमारे देश में भी अब बिना डर के उभार ले रही है। ऐसी घटना हमारी वैचारिकी, मूल्यों और परम्पराओं पर एक बदनुमा दाग़ है। यह हमारे लोकतन्त्र और संवैधानिक मूल्यों के लिए तो एक धक्का है ही साथ ही हमारे मनुष्य होने की अपरिहार्यता का भी उल्लंघन है।
निश्चित ही मनुष्यता व अमन के पक्षधर और संवैधानिक मूल्यों के पैरोकारों के लिए ये बहुत ही कठिन समय है जिसका सामना करने के लिए हमारी एकजुटता पहली शर्त है।
मनुष्यविरोधी ताकतों के उकसावों से बार बार उभर रहीं इस तरह की घटनाओं के विरोध में दिनांक 16 दिसम्बर (शनिवार) को एक शांति प्रदर्शन का आयोजन किया जाना है। यह आयोजन शाम को 4:00 बजे से चार बत्ती चौराहा, बुधवारा भोपाल में आयोजित है।
आप सभी से अपने मित्रों सहित इसमें उपस्थित रहने का अनुरोध है।
****

Related posts

20 साल से आवेदन देकर थक चुके थे ग्रामीण जब खुद सडक बनाने की ठानी तो प्रशासन ने डाला जेल में. तामेश्वर सिन्हा 

News Desk

नदियां बिक गई पानी के मोल : पानी पानी छतीसगढ़ … आलोक प्रकाश पुतुल : छ: किश्तों में सम्पूर्ण अध्यन

News Desk

Condemning Police Action on Students of Banaras Hindu University (BHU)

News Desk