आंदोलन किसान आंदोलन राजनीति शासकीय दमन

राजनांदगांव : प्रदेश स्तरीय किसान महापंचायत एक अक्टूबर को .मुख्यमंत्री को भी सरकार का पक्ष रखने का अवसर देंगे . जिला किसान संघ राजनांदगांव .

29.09.2018

**
प्रदेश के किसान एक बार फिर एक अक्टूबंर को राजनांदगांव में एकत्रित हो रहे है.बार बार किसान आंदोलन और उनकी पद यात्रा को अलोकतांत्रिक तथा पुलिस के दमन प्रताड़ना के बाद छतीसगढ हाई कोर्ट के सार्थक हस्तक्षेप के बाद किसान उत्साहित है ,कोर्ट ने कहा कि किसी को आंदोलन करने से रोका नहीं जा सकता .

बीमा ,बोनस ऋण माफी एवं वनाधिकार की मांग को लेकर किसान संकल्प यात्रा को बार बार दमन पूर्वक रोके जाने के मुद्दे पर इस महापंचायत का आयोजन कलेक्टर राजनांदगांव के सामने एक अक्टूबंर सोमवार को किया जा रहा हैं .

किसान महापंचायत में अपनी मांगो और सरकार द्वारा शांतिपूर्वक आंदोलन को दमन पूर्वक दबाये जाने के तथ्य प्रस्तुत किये जायेंगे .यहीँ अपना पक्ष रखने के लिये मुख्यमंत्री को भी अवसर दिया जायेगा .मुख्यमंत्री को बुलाने के लिये समयपूर्व उचित माध्यम से सूचना भेजी गई हैं ताकि निष्पक्षता पूर्ण राय बन सके.
किसान संघ ने अपील की है कि इस महापंचायत में प्रत्येक परिवार से एक पुरुष एक महिला जरूर इस महापंचायत में शामिल हों
**

Related posts

बस्तर हो जाता है ….कविता ,अनुज श्रीवास्तव

News Desk

किस ईश्वर को मानते हैं और कैसी अराधना करते हैं यह एकदम निजी मामला है.

News Desk

पल्स ग्रुप ऑफ कंपनीज के प्रभावित हजारों लोगों की रायपुर विशाल सभा. : छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन ने भी दिया अपना समर्थन.

News Desk