Uncategorized

रविन्द्र चौबे अरपा में लायेंगे हसदेव नदी का पानी

सिंचाई , पेयजल , ग्राउंड वाटर सहित निस्तारी के लिए उपलब्ध होगा पानी अरपा भी साल भर रहेगी लबालब , जल संकट से मिलेगी राहत

पत्रिका न्यूज

बिलासपुर . कृषि जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे शनिवार को बिलासपुर दौरे पर थे । इस दौरान उन्होंने अरपा असाझार प्रोजेक्ट का भी निरीक्षण किया इस दौरान बिलासपुर में जल संकट के सवाल पर उन्होंने नदियों जोड़ने के संकेत दिए हैं । इसके तहत अरपा नदी को हसदेव से जोड़ने की बात कही गई कृषि व सिंचाई मंत्री ने कहा कि इस साल के बजट प्रदेश के पांच नदियों को इंटरलिंक करने की योजना बनाई है । इसमें अहिरन – खारंग लिंक इसके तहत अरिहन नदी से पानी को खूटाघाट में डाला जाएगा । वहीं अरपा में हसदेव पानी लाया जा सकता है । इसके अलावा सिंचाई मंत्री चौबे कहा कि अमृत मिशन योजना तहत बिलासपुर की वाटर सप्लाई और अन्य विस्तार के लिए व्यवस्था की जाएगी ।

इस योजना को लेकर विभाग द्वारा प्रजेटेंशन रखा गया इस योजना को बजट में शामिल कर लिया गया है । आने वाले समय इसे तत्काल प्रारंभ करना योजना का प्रस्ताव सेंट्रल वाटर कमिशन को भेज दिया है । जल्द अनापत्ति मिलने की उम्मीद है । रविन्द्र चौबे ने कहा विधायक शैलेश पाण्डेय ने दो बार विधानसभा में इस बात को उठाई थी कि अरपा नदी के लिए पानी और कहां से लाया जा सकता है ।

हमने प्रायमरी सर्वे में देखा है कि मीनिमाता बांगो डेम से पानी बिलासपुर अरपा नदी में लाया जा सकता है । अभी केवल ये शुरुआती दौर पर देखा है । आने वाले समय में इसके लिए योजना तैयार की जा सकती है । उन्होने कहा 13 जिलों में बारिश कम हुई है अरपा भैसाझार में पानी की आवक ठीक ठाक है इस साल हम चाहते हैं कि इससे सिंचाई किया जाए लगभग 25 हजार हेक्टेयर का डिजाइन किया गया है । कुछ कामशेष है फिर भी 10 हजार हेक्टेयर खेतों को पानी दिया जा सकता है ।

ये है स्थिति

इन प्रस्तावों की स्थिति अभी प्रारंभिक प्रक्रिया में है । इसी सेशन में बजट में शामिल किया गया है । प्रारंभिक परीक्षण चल रहा है । बताया रहा है कि प्रायमरी रिकोग्नेजेशन सर्वे में जितने पहलू शामिल हैं वो सभी पॉजीटिव आ रहे हैं । ऐसे में इसके जल्द ही गति पकड़ने बात कही जा रही है ।

ये है तैयारी

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सिंचाई मंत्री की अनुशंसा पर नदी जोड़ने के पांच प्रस्ताव को बजट में शामिल किया गया है । बिलासपुर में दो प्रस्ताव पहला अहिरन नदी को खरुन जोड़ने का ताकि यहां की पेयजल की समस्या को दूर किया जा सके और सिंचाई की व्यवस्था हो । इसके अलावा हसदेव को अरपा से जोड़ने का प्रस्ताव है । इससे अरपा में सालों भर पानीरहेगा वहीं बिलासपुर के पेयजल की समस्या दूर होगी और सबसे खास बात यह कि यहां का वाटर लेवल रिचार्ज होगा ।

Related posts

बस्तर की दशा और दिशा बदलने सभी संगठन एकजुट हो – आप

cgbasketwp

सरगुजा जिले में अडानी कंपनी द्वारा किया जा रहे अवैध तथा गैरकानूनी खनन को तुरंत बंद किया जाये

cgbasketwp

चर्च पंसद हैं मुझे……..

cgbasketwp