कला साहित्य एवं संस्कृति महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार

? ये कहानी है विद्या राजपूत की , दर्द और संघर्षों से भरी. इतनी कठिन जिंदगी की इंसान हर पल मौत मांगे….

वीडियो देखें इस लिंक पर
https://youtu.be/MeL_2g2OOmE

 

Tanmay Agrawal Storiestan

यह कहानी है विद्या राजपूत की। दर्द और संघर्षों से भरी। इतनी कठिन जिंदगी की इंसान हर पल मौत मांगे। विद्या की रात भी यही सोचते हुए बीतती कि आत्महत्या कर जिंदगी की सारी तकलीफ़ों से मुक्त हो जाऊं। लेकिन अगले ही पल माँ का चेहरा नजरों के सामने घूमने लगता। वक्त के साथ मौत का ख्याल तो दिमाग से निकल गया लेकिन तकलीफें बढ़ती गईं।

कच्ची उम्र में जब विद्या हिजड़ा औऱ मामू जैसे ताने सुनने की आदी हो चुकी थी, तब पुरुष के शरीर में जन्म लेने वाले भेड़ियों ने विद्या को कई बार नोंचा। कभी अकेले तो कभी झुंड में। समाज के तथाकथित पुरुष मुझसे अपनी इच्छाएं पूरी कर रहे हैं, यानी वे मुझे स्त्री मान रहे है… इसी सोच में विद्या खामोशी से सब सहती रही।

शिक्षा ने सोच बदलने का काम किया। विद्या ने तय कर लिया कि वो हरसंभव पढ़ाई करेगी।

समाज ट्रांसजेंडर्स से क्यों चिढ़ता है, क्यों उनका मखौल उड़ाता है, क्यों ट्रांसजेंडर आम महिला या पुरुष की तरह आगे नहीं बढ़ पाए ? ये ऐसे सवाल थे, जिनका जवाब विद्या को वक्त के थपेड़ों और बेहतर शिक्षा से मिल गया था।

विद्या ने आम इंसान की जिंदगी जीने और मर जाने से बेहतर चेंज मेकर बनने का निर्णय लिया। ट्रांसजेंडर्स को बधाई मांगने के बजाय पढ़ने और काबिल बनकर आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित करने लगीं। सेक्स वर्कर्स को भी इज्जत की जिंदगी जीने प्रेरित किया। आज विद्या ट्रांसजेंडर्स की लीडर के तौर पर पहचानी जाती हैं। उन्हीं की कोशिशों का नतीजा है कि पुलिस भर्ती में अब ट्रांसजेंडर्स को भी शामिल किया गया है। उनसे जुड़े कई ट्रांसजेंडर्स अब समाज में सिर ऊंचा कर जी रहे हैं। लोगों का नजरिया भी बदलने लगा है। वो दिन दूर नहीं जब ट्रांसजेंडर्स हर वो काम करेंगे, जिस पर आज सिर्फ पुरुष और स्त्रियों का वर्चस्व है।

वीडियो सीरीज Storiesतान में अब तक हम 20 कामयाब शख्सियतों से आपकी मुलाकात करवा चुके हैं। विद्या की कहानी उन सबसे अलग है। खास है। उन्होंने लाखों, करोड़ों रुपए नहीं कमाए, लेकिन सम्मान की जो बेशकीमती दौलत उन्होंने अपने और पूरी ट्रांसजेंडर्स कम्युनिटी के लिए कमाई है वो अनमोल है। विद्या की कहानी सुनिए और अगर पसंद आये तो शेयर जरूर करिए। हो सकता है ट्रांसजेंडर्स के प्रति किसी की सोच बदल जाए। सोच बदलना ही तो विद्या का मकसद है।

Tanmay Agrawal Storiestan

 

वीडियो देखें इस लिंक पर
https://youtu.be/MeL_2g2OOmE

Related posts

गणतंत्र दिवस : आज़ाद हिंद फौज़ के जनरल शहनवाज़ खान… लाल क़िले से आई आवाज – सहगल, ढिल्लन, शहनवाज़’, कौन थे जनरल शाहनवाज़ खान.?

News Desk

जगदलपुर पुलिस की अपने ही सिपाहियों के साथ अमानवीयता की पराकाष्ठा , सिपाही की पत्नी ने लगाया गले में फंदा .

News Desk

न्याय और नागरिक सुविधाओं के लिए पदयात्रा सुकमा छत्तीसगढ़ ‘ : जनवरी 4 से 13 तक , सोनी सोरी लिंगा राम कोडोपी सहित आदिवासी युवा चाहते हैं कि देश के अन्य लोग भी वहाँ इस पैदल यात्रा में शामिल हो कर आदिवासियों की हालत जानने के लिए यहाँ आयें

News Desk