आंदोलन महिला सम्बन्धी मुद्दे

मेरा समाज अब अपने सपने को सच करने में जुटा है : बिद्या राजपूत

 

1.02.2018

विद्या राजपूत 

कभी आपके खुशीयो में नाचते गाते
कभी ट्रेनो में ताली बजाते मांगते
आज इन बच्चो को पुलिस भर्ती की तैयारी करते देख कर बहुत ख़ुशी हो रही है l
मैं अपने बचपन को मिस कर रही हू l

ए दौर बदल रहा है l
मेरा समाज अब अपने सपने को सच करने में जूटा है l
मेरा देश ,मेरा संविधान पर अभिमान है l
Police ground Raipur

Related posts

रेटिंग, सर्टिफिकेट, डिग्री, सब बाज़ार का माल होता है! : मूडीज का मूड कैसे बदलता है?

News Desk

घाटमुड़ा विस्थापितों की मांगों पर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की माकपा ने

Anuj Shrivastava

14 अप्रेल : संविधान को समझना क्यों जरूरी है। डॉक्टर अंबेडकर संविधान सभा के समापन भाषण में कहते हैं …

News Desk