आंदोलन छत्तीसगढ़ मानव अधिकार राजकीय हिंसा राजनीति वंचित समूह शिक्षा-स्वास्थय सांप्रदायिकता हिंसा

माकपा ने की दिल्ली दंगा पीड़ितों के लिए राहत फंड की अपील

CPIM Delhi

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने हाल ही में उत्तर-पूर्व दिल्ली के इलाकों में हुए सांप्रदायिक दंगों से पीड़ित प्रभावितों के लिए राहत फंड एकत्रित करने का आह्वान किया है। माकपा सचिव संजय पराते ने बताया कि दिल्ली दंगा पीड़ितों और प्रभावितों के लिए बड़े पैमाने पर राहत और पुनर्वास का कार्य उनकी पार्टी द्वारा किया जा रहा है। पार्टी ने लोगों से अपील कि है कि  चेक/डीडी के ज़रिये वे भी इस कारी मे आर्थिक सहयोग करें। ये सहाता नई दिल्ली स्थित पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में भेजा जा सकता है।

माकपा राज्य सचिवमंडल द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि इन दंगों में अभी तक 153 लोगों के हताहत होने और सैकड़ों लोगों के लापता होने की खबर है, जिसमें दोनों समुदायों के गरीब लोग ही हैं। अधिकांश असंगठित क्षेत्र के मजदूर हैं, जिनकी आजीविका और घरों को काफी नुकसान पहुंचा है। 

माकपा ने आरोप लगाया है कि इन दंगों में संघी गिरोह का पूरा-पूरा हाथ था और यही कारण है कि उकसावे के लिए जिम्मेदार संघी नेताओं पर अभी तक एफआईआर तक दर्ज नहीं की गई है और इतने संवेदनशील मुद्दे पर होली का बहाना बनाकर संसद में चर्चा तक टाल दी गई है। माकपा ने बताया कि मुस्लिम समुदाय के लोगों की जान-माल को हुए नुकसान की एफआईआर दर्ज नहीं की जा रही है और राहत कार्य को एफआईआर के साथ जोड़ दिया गया है। इससे स्पष्ट है कि सरकार दंगा प्रभावितों को राहत पहुंचाने के प्रति संवेदनहीन हैं। 

माकपा के छत्तीसगढ़ राज्य सचिव संजय पराते ने आम जनता से पार्टी राहत फंड में उदारतापूर्वक सहयोग देने की अपील की है। उन्होंने बताया कि माकपा धार्मिक विश्वास के आधार पर भेदभाव किये बिना सभी दंगा पीड़ितों व प्रभावितों तक राहत पहुंचाने और उनका पुनर्वास करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने बताया कि माकपा द्वारा पूरे प्रदेश में राहत फंड एकत्रित करने का अभियान चलाया जा रहा है।

माकपा नेता ने कहा कि छत्तीसगढ़ पार्टी के निम्न खाते में भी राहत फंड जमा किया जा सकता है और पार्टी को सूचना भेजी जा सकती है :

CPI(M), Chhattisgarh State Committee
Bank of Baroda, Pandri Branch, RaipurAcc. No. 17380100002622, 
IFSC code : BARBPAN0RAI, (मो) 094242-31650

Related posts

भूपेश भी अडानी के कोल ब्लॉक के लिए आदिवासियों को उजाड़ना चाहते हैं. ःः संजय पराते .

News Desk

रायपुर : मनरेगा के तहत राज्य में नही मिल रहा 150 दिनों का रोजगार, मजदूरी भुगतान भी सालों से लंबित । जनजातीय अधिकार मंच ने दिया धरना.

News Desk

शरद पवार के सपनो की बदरंग सिटी लवासा .

cgbasketwp